rakesh tikait

प्रधानमंत्री माफी न मांगे बल्कि सख्त होकर हमारे मुद्दों पर बात करें : टिकैत

187 0

किसान नेता राकेश टिकैत (Rakesh Tikait)  ने सोमवार को लखनऊ के बंगला बाजार स्थित ईको गार्डन में किसान महापंचायत (Kisan Mahapanchayat) को संबोधित किया। राकेश टिकैत ने किसान महापंचायत को संबोधित करते हुए ये साफ कर दिया कि किसान अभी आंदोलन स्थगित करने के मूड में नहीं हैं। उन्होंने कहा कि पूरा देश प्राइवेट मंडी बनने जा रहा है, संघर्ष रोकने का प्रस्ताव हमने ठुकरा दिया है। ये आंदोलन जारी रहेगा।

राकेश टिकैत ने शांतिपूर्ण तरीके से आंदोलन को आगे बढ़ाने की अपील करते हुए कहा कि किसान आंदोलन के सभी कार्यक्रम जारी रहेंगे। इस आंदोलन की खूबसूरती ये है कि किसी झंडे से किसी को कोई ऐतराज नहीं है। उन्होंने कहा कि इस आंदोलन की खूबसूरती रंग-बिरंगे झंडे हैं और सबके मुद्दे एक हैं। हमारे कई मसले हैं जिनकी तरफ सरकार का ध्यान नहीं है। ये किसान की खेती को प्राइवेट कर रहे हैं। ये ग्राम समाज की जमीन बेच देंगे। राकेश टिकैत ने कहा कि आने वाले समय में ये आंदोलन देशभर में चलेगा। देश की जनता सरकार से नाराज है।

उन्होंने कहा कि गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा टेनी की गिरफ्तारी हमारा प्रमुख मुद्दा है। अगर टेनी ने चीनी मिल का उद्घाटन किया तो मिल का गन्ना डीएम ऑफिस जाएगा। राकेश टिकैत ने सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि आप कातिल को हीरो बनाना चाहते हो। किसानों का हत्यारा आगरा की जेल में जाएगा। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी ने बहुत मीठी बात की। वे माफी न मांगे बल्कि सख्त होकर हमारे मुद्दों पर बात करें। दिल्ली वालों की भाषा अलग थी। हमें 12 महीने लग गए इन कानूनों के नुकसान समझाने में।

राकेश टिकैत ने कटाक्ष करते हुए कहा कि कृषि कानूनों की वापसी का ऐलान करते हुए भी किसानों को बांटने का काम किया गया। प्रधानमंत्री ने कहा कि हम कुछ लोगों को समझा नहीं सके। देशवासियों से माफी मांगते हैं। उन्होंने कहा कि माफी तब मिलेगी जब न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) को लेकर कानून बनाएंगे। कमेटी बनाने का झूठ बोलते हैं। उन्होंने सवालिया अंदाज में कहा कि आप एमएसपी को लेकर कानून बनाएंगे या नहीं? राकेश टिकैत ने साथ ही ये भी कहा कि हमें नई कमेटी नहीं चाहिए। नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में एमएसपी को लेकर मनमोहन सिंह सरकार के समय जो कमेटी बनी थी, उसी की सिफारिश लागू कर दीजिए।

शादी के बाद राजकुमार राव-पत्रलेखा ने दिया फुल फैमिली के साथ पोज

किसान नेता ने कहा कि मनमोहन सिंह की सरकार के समय एमएसपी को लेकर गुजरात के तत्कालीन मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में एक कमेटी बनी थी। उस कमेटी ने एमएसपी को लेकर कानून बनाने की सिफारिश की थी जो अब तक लागू नहीं हुई है। किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा कि प्रधानमंत्रीजी, आप अपने नेतृत्व वाली कमेटी की सिफारिश ही लागू कर दीजिए। राकेश टिकैत ने किसान महापंचायत में कहा कि स्वामीनाथन की रिपोर्ट को भी लागू नहीं किया गया। देश की जनता जान चुकी है कि गेंहू का दाम कब मिलेगा। उन्होंने साथ ही ये भी जोड़ा कि ये लोग हिंदू, मुसलमान और जिन्ना के नाम पर माहौल खराब करने का काम करेंगे।

Related Post

मानसून सत्र में विपक्ष के हंगामे को प्रधानमंत्री मोदी ने बताया संविधान और लोकतंत्र का अपमान

Posted by - August 3, 2021 0
विपक्ष के हंगामे के कारण संसद का मानसून सत्र बुरी तरह प्रभावित हो रहा है और लगातार कार्यवाही टालने की…
UP Board

UP Board के परिणाम में अगर छात्रों को है समस्या तो यहां से निकलेगा समाधान

Posted by - June 22, 2022 0
प्रयागराज: उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद यानी यूपी बोर्ड (UP Board) का रिजल्ट घोषित होने के बाद अगर किसी छात्र…
manmohan singh sonia gandhi

प. बंगाल विधानसभा चुनाव: कांग्रेस स्टार प्रचारकों की लिस्ट जारी

Posted by - March 12, 2021 0
नई दिल्ली। पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के लिए सियासी बिसात बिछ चुकी है। इसी सिलसिले में कांग्रेस (Congress)  ने स्टार…