पेगासस: कुछ छिपाने को नहीं तो इजरायल पीएम को खत लिखें मोदी- सुब्रमण्यम स्वामी

27 0

भारत में पेगासस सॉफ्टवेयर के जरिए विपक्षी नेताओं, पत्रकारों और मोदी सरकार के मंत्रीयों की फोन टैपिंग का खुलासा करने वाली रिपोर्ट पर बवाल मचा हुआ है। जासूसी मामले में विपक्ष सरकार को घेर हुए है और प्रधानमंत्री मोदी समेत भाजपा के बड़े नेताओं के खिलाफ जांच की मांग कर रहा है। भाजपा के राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने अलजजीरा की एक खबर शेयर करते हुए लिखा कि क्या भारत एक प्राइवेट कंपनी की दया पर निर्भर है?

उन्होंने कहा- अगर हमारे पास छिपाने के लिए कुछ नहीं है तो प्रधानमंत्री मोदी को चाहिए कि वह इजरायली पीएम को पत्र लिखें और एनएसओ पेगासस प्रोजेक्ट का पता लगाएं किसने दिया पैसा। खबर के अनुसार कांग्रेस पार्टी ने प्रधानमंत्री मोदी पर गद्दारी का आरोप लगाया है और कहा है कि उन्होंने देश की सुरक्षा के साथ खिलवाड़ किया।

कोरोना का नया स्वरूप: टीके के बाद भी महिला डॉक्टर पर एक साथ दो वैरियंट्स का हमला

भाजपा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने अपने ट्वीट में लिखा “यह बिल्कुल स्पष्ट है कि Pegasus Spyware एक कमर्शियल कंपनी है जो पेड कॉन्ट्रैक्ट्स पर काम करती है। इसलिए अपरिहार्य प्रश्न उठता है कि भारतीय “ऑपरेशन” के लिए उन्हें किसने भुगतान किया। भारत सरकार नहीं तो कौन? भारत के लोगों को बताना मोदी सरकार का कर्तव्य है ”

 

 

 

Divyansh Singh

मिट्टी का तन, मस्ती का मन; छड़ भर जीवन, मेरा परिचय।

Related Post

Budget session of Parliament

हड़ताल पर केंद्र व ट्रेड यूनियन आमने-सामने, सरकार बोली-नतीजा भुगतने को तैयार रहें कर्मचारी

Posted by - January 7, 2020 0
नई दिल्ली। केंद्र सरकार ने अपने कर्मचारियों को कड़ी चेतावनी दी है। सरकार ने कहा कि यदि वे आठ जनवरी…
देवीपाटन मंदिर 31 मार्च तक बंद

कोरोना एलर्ट : ऐतिहासिक शक्तिपीठ देवीपाटन मंदिर 31 मार्च तक बंद

Posted by - March 21, 2020 0
बलरामपुर। भारत-नेपाल सीमा से लगे उत्तर प्रदेश के बलरामपुर जिले में ऐतिहासिक शक्तिपीठ देवीपाटन मंदिर को कोरोना एलर्ट के मद्देनजर…
ट्रैवेलिंग फूडी सारांश

ट्रैवेलिंग फूडी सारांश में 28 फरवरी को लखनऊ में, अपने अनुभव करते हैं कलमबद्ध

Posted by - February 22, 2020 0
लखनऊ। खाने को खाकर बताने के शौकीन ट्रेवेलिंग फूडी सारांश 28 फरवरी को राजधानी में तीन दिन रहकर लखनऊ की…