केजरीवाल ने उपराज्यपाल को लिखा पत्र, सार्वजनिक रूप से छठ पूजा मनाने की मांगी अनुमति

115 0

नई दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने छठ पूजा को लेकर उपराज्यपाल अनिल बैजल को पत्र लिखा है।  एलजी को लिखे पत्र में सीएम केजरीवाल ने कहा है कि दिल्ली में पिछले तीन महीनों से कोरोना संक्रमण नियंत्रण में है। इसलिए कोरोना प्रोटोकाल का पूरा ध्यान रखने हुए छठ पूजा मनाने की अनुमति दी जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि दिल्ली से सटे उत्तर प्रदेश, हरियाणा और राजस्थान समेत अन्य राज्यों ने भी नागरिकों के स्वास्थ्य और सुरक्षा को देखते हुए उचित प्रतिबंधों के साथ छठ पूजा मनाने की अनुमति दी है।

अरविंद केजरीवाल ने एलजी अनिल बैजल से अपील किया है कि जल्द से जल्द डीडीएमए की बैठक बुलाकर छठ पूजा के लिए मंजूरी दी जाए सीएम अरविंद केजरीवाल ने पत्र में लिखा है कि दिल्ली के लोग बड़ी आस्था के साथ हर साल छठ पूजा मनाते हैं। यह त्यौहार हमारी वैदिक आर्य संस्कृति का एक अहम हिस्सा है। छठ पूजा पर सूर्य देव और छठी मैया की पूजा करने से व्यक्ति को स्वास्थ्य, समृद्धि आदि सुखों का लाभ होता है।

बुधवार को छठ  पर चल रही राजनीति पर दिल्ली सरकार के मंत्री और आम आदमी पार्टी के नेता गोपाल राय  ने कहा कि जब दिल्ली में बीजेपी की सरकार थी, तब छठ पूजा होती ही नहीं थी, बीजेपी कराती ही नहीं थी। उसके बाद कांग्रेस की सरकार बनी तो 68 जगहों पर छठ पूजा होती थी। हमारी सरकार के दौरान जब आखरी बार छठ पूजा हुई थी, तो 1068 जगहों पर पूजा धूम-धाम से करवाई गई।

मंत्री गोपाल राय ने आगे कहा कि बीते साल कोरोना के चलते केंद्र सरकार के दिशा-निर्देश आए थे कि छठ पूजा नहीं कराई जानी चाहिए। केंद्र सरकार के स्वास्थ्य मंत्रालय की जो गाइडलाइन थी, उसके अनुसार एक्सपर्ट की राय थी कि सबसे ज्यादा कोरोना वायरस पानी मे फैलता है और छठ पूजा पानी में खड़े होकर की जाती है, इसलिए पिछली बार केंद्र सरकार के दिशा-निर्देश थे कि घर में रहकर लोग छठ पूजा करें।

वहीं, दिल्ली भाजपा के पूर्व अध्यक्ष मनोज तिवारी ने दिल्ली सरकार द्वारा छठ पूजा कराने के निर्णय को आस्था की जीत बताया है। उन्होंने कहा कि हम सब कोविड के नियमों अनुसार अनुशासित तरीके से छठ घाट पर पूजा करेंगे।

भाजपा ने किया था प्रदर्शन

बता दें कि छठ पूजा की मंजूरी की मांग को लेकर भाजपा ने मंगलवार को मुख्यमंत्री आवास पर विरोध प्रदर्शन किया था। प्रदर्शनकारियों को नियंत्रित करने के लिए पुलिस ने पानी की बौछार डाली, जिससे उत्तर-पूर्वी दिल्ली के सांसद मनोज तिवारी सहित कई कार्यकर्ता जख्मी हो गए थे। मनोज तिवारी को सफदरजंग अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा था। इलाज के बाद उन्हें छुट्टी दे दी गई थी।

गौरतलब है कि कोरोना संक्रमण का हवाला देकर दिल्ली में सार्वजनिक स्थानों पर छठ पूजा के आयोजन पर रोक लगा दी गई है। भाजपा और छठ पूजा आयोजन समितियां इस फैसले का विरोध कर रही हैं। आम आदमी पार्टी भी छठ पूजा के आयोजन के समर्थन में है।

Related Post

अमित शाह

कश्मीर में हालात सामान्य, प्रशासन नेताओं की रिहाई पर लेगा निर्णय : अमित शाह

Posted by - December 10, 2019 0
नई दिल्ली। लोकसभा में केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने कहा कि कश्मीर घाटी में स्थिति सामान्य है। उन्होंने कहा कि…

भाजपा की चुप्पी पर छलका चिराग का दर्द, कहा- चाचा-भाई ने धोखा दिया तो दूसरों से क्या उम्मीद करें

Posted by - August 8, 2021 0
लोजपा के भीतर सियासी संकट को लेकर इस वक्त चिराग पासवान चिंतित हैं, उन्होंने अपने प्रति भाजपा की बेरुखी पर…

24 जून की मीटिंग से पहले महबूबा मुफ्ती बोलीं- केंद्र सरकार को पाकिस्तान से भी बात करनी चाहिए

Posted by - June 22, 2021 0
पीएम नरेंद्र मोदी की अगुवाई में 24 जून को जम्मू-कश्मीर को लेकर बैठक होनी है बैठक में जम्मू-कश्मीर की पार्टियों…