Kalicharan

फिल्म काली के पोस्टर पर आग बबूला हुए कालीचरण, दे डाला ये बयान

80 0

इंदौर: डॉक्यूमेंट्री फिल्म ‘काली’ के पोस्टर को लेकर विवाद ने देश में फिर से आग भड़का दी है। मध्यप्रदेश में फिल्म काली की डायरेक्टर लीना मणिमेकलाई पर 2 FIR दर्ज की गई हैं। इसके बाद इंदौर में कालीचरण महाराज (Kalicharan Maharaj) ने भी एफआईआर दर्ज कराने की बात कहते हुए विवादित बयान भी दे डाला है। महाराज ने कहा कि भारत में धर्म के अपमान को सहन करने की प्रवृत्ति की वजह से हिंदू डरपोक के जैसा जीवन बिता रहा है। मोदी, योगी, शाह तीनों ही लोग कट्टरता दिखा रहे हैं।

कालीचरण महाराज ने कहा कि मदरसों से मुसलमानों को तालीम मिलती है, लेकिन हिंदुओं को धर्म शिक्षा न तो मंदिर से मिलती है, न ही घर से मिलती है। साधुओं के अपमान की तीव्र प्रतिक्रिया संविधानिक तरीके से करनी चाहिए। जिसका दिमाग चलता है। वो दिमांग चलाएं, जिसके हाथ-पैर चलते हैं, वह हाथ पर चलाएं। जिसकी पद प्रतिष्ठा चलती है। धर्म-संस्कृति का संहार हो रहा है। धर्म का अपमान अगर हिंदू सहता गया तो 12000 साल के लिए हिंदू नर्क में सड़ेगा। उन्होंने सभी मंदिर के पुजारी और हिंदुओं से आव्हान करते हुए कहा कि सभी थाने में काली पोस्टर को लेकर एफआईआर दर्ज कराएं।

बरेलवी उलेमा ने कन्हैयालाल के हत्यारों के खिलाफ जारी किया फतवा

कालीचरण महाराज ने कहा कि, भ्रष्ट साधुओं पर फिल्में बनती है तो हम सहन कर लेंगे, लेकिन देवताओं का अपमान नहीं सहेंगे। उन्होंने कहा कि फिल्म निर्माता को चुड़ैल बोलना भी चुड़ैलों का अपमान है। हिंदुओं को संवैधानिक आश्रय लेकर कार्य करना चाहिए। हिंदुओं को महत्वपूर्ण बात याद रखना चाहिए कि हिंदुओं की सारी समस्या की जड़ राजनीति में है। मोदी अकेले कहां-कहां क्या करें, बाकी लोग क्या करेंगे, घर में बैठकर नींद लेगे क्या?

काली पोस्टर के बाद Leena ने शेयर की शिव-पार्वती की तस्वीर, मचा बावाल

Related Post

nirmala sitaraman

आर्थिक वृद्धि बनाए रखने के लिए उद्योग और सरकार के बीच विश्वास जरूरी : सीतारमण

Posted by - April 20, 2021 0
कोलकाता । वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) ने मंगलवार को कहा कि कोविड-19 महामारी के बीच वृद्धि को बनाए…