मण्डलायुक्त मुकेश मेश्राम

लखनऊ के सरकारी स्कूलों का होगा काया-कल्प, मण्डलायुक्त मुकेश मेश्राम ने की बैठक

846 0

लखनऊ। मण्डलायुक्त मुकेश मेश्राम की अध्यक्षता में लखनऊ के सरकारी स्कूलों का काया-कल्प के लिए बुधवार को बैठक हुई। बैठक में शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार करने हेतु शहर के निजी स्कूलों, एनजीओ, समाज सेवी संस्थाओं के पदाधिकारियों व शिक्षा विभाग के अधिकारियों के साथ चर्चा हुई।

समाज में प्रत्येक बच्चे को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा व बेहतर चिकित्सा व्यवस्था उपलब्ध कराना हम सब का दायित्व

मण्डलायुक्त ने कहा कि समाज में प्रत्येक बच्चे को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा व बेहतर चिकित्सा व्यवस्था उपलब्ध कराना हम सब का दायित्व है। उन्होंने कहा कि जिस देश में अच्छी शिक्षा व्यवस्था व अच्छी चिकित्सा व्यवस्था होती है वह देश विकास करता है। उन्होंने कहा कि मेरी आप लोगों से यह अपेक्षा है कि आप लोग अपने-अपने क्षेत्र के एक सरकारी विद्यालय को एडाप्ट कर लें उस विद्यालय की मूलभूत सुविधाओं को विकसित कर उसका सौन्दर्यीकरण कराकर उस विद्यालय की शिक्षा की गुणवत्ता सुनिश्चित कराने हेतु सप्ताह में एक बार एक घन्टे के लिए अंग्रेजी, गणित व विज्ञान के विशेषज्ञ अध्यापकों से शिक्षा प्रदान कराये, जिससे बच्चों का बेसिक बुनियादी ढ़ाचा मजबूत होगा।

राज्यसभा में देश की आर्थिक स्थिति पर चर्चा से अधिकतर सांसद नदारद 

मुकेश मेश्राम ने कहा कि उसके साथ ही एक अभियान चलाकर लोगों को जागरुक किया जायें कि वह अपने क्षेत्र के किसी विद्यालय में जाकर निःशुल्क विद्या दान करें। जिसमें ग्रहणी, वरिष्ठ नागरिक, विद्यार्थी व सरकारी, गैरसरकारी संस्थाओं मे कार्यरत अधिकारी, कर्मचारी सभी शामिल है।

एचसीएल ने शहर को 21 सरकारी विद्यालयों को एडाप्ट किया

मण्डलायुक्त ने कहा कि हमें यह जानकारी प्रदान करते हुए प्रसन्नता हो रही है एचसीएल ने शहर को 21 सरकारी विद्यालयों को एडाप्ट किया है जिसमें 16 प्राथमिक विद्यालयों है व 04 उच्च प्राथमिक विद्यालय है। उन विद्यालयों में एचसीएल द्वारा वहाॅ की मूलभूत सुविधाओं को विकसित कर उनका सौन्दर्यीकरण कराकर विद्यालयों में अध्यापकों की कमी को भी पूरा किया जा रहा है। उन्होंने निजी स्कूलों के पदाधिकारियों से कहा कि आप लोग अपने विद्यालयों में बच्चों से पुस्तके व स्टेशनरी की सामग्री भी डोनेट कराये, जिससें उसका उपयोग पुनः किया जा ऐसे करने से पर्यावरण पर भी अच्छा प्रभाव पडे़गा, अन्यथा वो सामग्री व्यर्थ जाती है और उसका उपयोग नहीं हो पाता है।

मुकेश मेश्राम ने कहा कि जहाॅ पर सरकार और सोसाइटी दोनों मिलकर काम करती है वहाॅ पर अच्छे परिणाम प्राप्त होते हैं। उन्होंने कहा कि हमें इस सोच के साथ आगे बढ़ना चाहिए कि हम समाज के लिये क्या अच्छा से अच्छा कर सकते है। बैठक में चेन्नई की संस्था वाइस स्नैप सर्विसेज प्राइवेट लिमिटेड द्वारा वाइस स्नैप एप का प्रस्तुतीकरण भी किया गया, जिसमें बताया गया कि कैसे एप का प्रयोग कर वाइस रिकार्डिंग के माध्यम से बच्चों के अभिभावको को स्कूल से सम्बन्धित सूचनाओं को उपलब्ध कराया जा सकता है।

Related Post

cm yogi

दंगाई अब यूपी में सब्जी बेच रहे हैं, कहते हैं जान बख्श दो: सीएम योगी

Posted by - December 1, 2022 0
अरावली/बनासकांठा/अहमदाबाद/वडोदरा। पहली दिसंबर को गुजरात विधानसभा चुनाव के पहले चरण का मतदान हुआ तो दूसरे चरण के लिए उत्तर प्रदेश…

बर्थडे स्पेशन: फिल्में ना करने के बावजूद कम नहीं हुआ शेट्टी का रुतबा

Posted by - August 11, 2019 0
बॉलीवुड डेस्क। आज यानी 11 अगस्त को सुनील शेट्टी अपना 58वां बर्थडे सेलिब्रेट कर रहे हैं। सुनील शेट्टी पिछले काफी…