कॉमर्शियल गैस सिलेंडर हुआ महंगा, 264 रुपये की हुई बढ़त

128 0

नई दिल्ली। दिवाली से पहले महंगाई का एक और बड़ा झटका लगा है।  पेट्रोलियम कंपनियों ने कॉमर्शियल सिलेंडर के दाम में 264 रुपये की भारी बढ़त कर दी है। इस बढ़त के साथ अब दिल्ली में 19.2 किलो वाला कॉमर्श‍ियल सिलेंडर 2000.5 रुपये का हो गया है। हालांकि, 14.2 किलो वाले घरेलू रसोई गैस सिलेंडर में कोई बढ़ोतरी नहीं की गई है।

गौरतलब है कि 6 अक्टूबर, 2021 को हुई समीक्षा के मुताबिक, दिल्ली में 19.2 किलो ग्राम के सिलेंडर की कीमत सिर्फ 1736.50 रुपये थी। लेकिन इस महीने की शुरुआत यानी आज 1 नवंबर 2021 को इसमें 264 रुपये की बढ़त कर दी गई है।

इंडियन ऑयल की वेबसाइट के मुताबिक दिल्ली में अब कॉमर्श‍ियल सिलेंडर की कीमत 2000.50 रुपये हो गई है. इसी तरह कोलकाता में 19.2 किलो वाले सिलेंडर की कीमत 2073.5 रुपये, मुंबई में 1950 रुपये, लखनऊ में 2093 रुपये और चेन्नई में 2133 रुपये का हो गया है।

सितंबर और अक्टूबर में भी बढ़ी थी कीमत

इससे पहले सितंबर और अक्टूबर में भी पेट्रोलियम कंपनियों ने कमर्शियल गैस सिलेंडर के दाम में बढ़ोतरी की थी। 19 किलोग्राम के कमर्शियाल गैस सिलेंडर की कीमत 1 सितंबर को 43 रुपये और 1 अक्टूबर को 75 रुपये बढ़ाए गए थे।

बाहर का खाना-पीना होगा महंगा 

कॉमर्श‍ियल सिलेंडर के दाम बढ़ने से रेस्टोरेंट का खाना-पीना काफी महंगा हो जाएगा। गौरतलब है कि सब्जियों के दाम, सरसों के तेल की आसमान छूती कीमत की वजह से रेस्टोरेंट वाले पहले से काफी परेशान हैं। अब एलपीजी सिलेंडर की भारी कीमत से वे खाने-पीने के दाम बढ़ाने को मजबूर हो सकते हैं।

जुलाई से अब तक 90 रुपये बढ़े

इसके पहले रसोई गैस के दाम में आखिरी बार बढ़ोतरी 6 अक्टूबर को हुई थी। तब 14.2 किलोग्राम वाले घरेलू रसोई गैस सिलेंडर की कीमत 15 रुपये बढ़ाई गई थी। जुलाई से लेकर अब तक इसके दाम 90 रुपये बढ़ चुके हैं। दिल्ली और मुंबई में नॉन-सब्सिडी वाले 14.2 किलो वाले घरेलू एलपीजी सिलेंडर की कीमत अब 899.50 रुपये है।

100 रुपये से ज्यादा का नुकसान

गौरतलब है कि एलपीजी कीमतों में बढ़त की आशंका पहले से ही जताई जा रही थी। हालांकि घरेलू गैस की कीमतें अभी न बढ़ाकर तेल कंपनियों ने कुछ राहत दी है, लेकिन बाद में इन्हें भी बढ़ाया जा सकता है।

एक न्यूज एजेंसी ने सूत्रों के हवाले से खबर दी है कि घरेलू एलपीजी सिलेंडर को लागत से कम मूल्य पर बेचने से होने वाला नुकसान (अंडर रिकवरी) अब 100 रुपये प्रति सिलेंडर से ज्यादा हो चुका है।

Related Post

अर्थव्यवस्था को बड़ा झटका

ग्रामीण उपभोक्ता खर्च में 40 सालों की सबसे बड़ी गिरावट, अर्थव्यवस्था को बड़ा झटका

Posted by - November 15, 2019 0
नई दिल्ली। मोदी सरकार की अर्थव्यवस्था को एक और झटका देने वाली बड़ी खबर आई है। देश के ग्रामीण इलाकों…