former mp dhananjay singh

Ajit Singh Murder Case: धनंजय सिंह के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी, हत्‍या की साज‍िश का आरोप

400 0

लखनऊ मऊ जिले के पूर्व ब्लाक प्रमुख अजीत सिंह(Ajeet Singh) की लखनऊ में छह जनवरी को गैंगवार में हुई हत्या के मामले में पूर्व सांसद बाहुबली धनंजय सिंह पर शिंकजा कस गया है। अजीत सिंह(Ajeet Singh) की हत्या में शूटर गिरधारी उर्फ डॉक्टर के एनकाउंटर के बाद पूर्व सांसद धनंजय सिंह के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किया गया है। इस केस में धनंजय सिंह के खिलाफ हत्या की साजिश में शामिल होने का केस भी दर्ज किया गया है।

धनंजय सिंह की गिरफ्तारी का वारंट जारी

लखनऊ की सीजेएम कोर्ट ने धनंजय सिंह(Dhanajay Singh) की गिरफ्तारी का वारंट जारी किया है। इस केस में लखनऊ पुलिस ने धनंजय को हत्या की साजिश रचने का आरोपी बनाया है। पूर्व ब्लॉक प्रमुख अजीत सिंह (Ajeet Singh) की हत्या के मामले में लखनऊ की सीजेएम कोर्ट ने जौनपुर से बसपा के पूर्व सांसद धनंजय सिंह के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी कर दिया है। लखनऊ में गैंगवार में अजित सिंह (Ajeet Singh) की हत्या में शामिल एक शूटर का इलाज करने वाले सुल्तानपुर के डॉ. एके सिंह ने पुलिस पूछताछ में बताया था कि पूर्व सांसद बाहुबली धनंजय सिंह (Dhanajay Singh) ने ही उन्हेंं फोनकर घायल शूटर के इलाज के लिए कहा था। उन्हेंं नहीं पता था कि घायल व्यक्ति अपराधी है और उसे गोली लगी है। डॉक्टर एके सिंह पर आईपीसी 176 की कार्रवाई के बाद पांच लाख रुपये के निजी मुचलके पर उन्हेंं थाने से छोड़ा गया था।

लखनऊ पुलिस जल्द धनंजय सिंह (Dhanajay Singh) को करेगी गिरफ्तार

डॉक्टर के बयान के बाद पुलिस यह मानकर चल रही थी कि अजीत सिंह(Ajeet Singh) हत्याकांड में धनंजय सिंह (Dhanajay Singh) ने न सिर्फ शूटर्स मुहैया करवाए बल्कि उन्हेंं पुलिस से बचाने की भी कोशिश की। इस प्रकरण में पुलिस ने पूछताछ के लिए धनंजय को नोटिस भी भेजा था। जब धनंजय सिंह ने इसका संज्ञान नहीं लिया तो कोर्ट ने गैर जमानती वारंट जारी किया है। माना जा रहा है कि अब लखनऊ पुलिस जल्द धनंजय सिंह को गिरफ्तार करेगी।

जगनें क्या है पूरा मामला-

गौरतलब है कि लखनऊ में बीती छह छह जनवरी की रात विभूतिखंड क्षेत्र में कठौता चौराहे के पास मऊ जिले के गोहना के पूर्व जेष्ठ प्रमुख अजीत सिंह (Ajeet Singh) और उसके साथी मोहर सिंह पर कुछ शूटर्स ने ताबड़तोड़ गोलियां बरसाई थीं। अजीत सिंह( Ajeet Singh) को 25 गोलियां मारी गई थीं। इस मामले में मोहर सिंह की तहरीर पर आजमगढ़ के कुंटू सिंह, अखंड सिंह, शूटर गिरधारी समेत छह लोगों पर मुकदमा दर्ज किया गया था।

पुलिस अब चार लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है। मुख्य शूटर गिरधारी को दिल्ली ने गिरफ्तार करने के बाद पुलिस ने लखनऊ में 16 फरवरी को मुठभेड़ में ढेर किया था। दिल्ली पुलिस ने शूटर गिरधारी को सीजेएम कोर्ट में पेश किया था। उसके बाद वहां से उसे लखनऊ जिला जेल भेज दिया गया। शनिवार सुबह 11 बजे उसे रिमांड पर 16 फरवरी सुबह 11 बजे तक लिया गया था। पुलिस अभिरक्षा से फरार होने की कोशिश में 15 फरवरी सोमवार तड़के करीब तीन बजे मार गिराया गया। इस रिमांड के दौरान गिरधारी ने कुंटू सिंह और सफेदपोश का पूरा कनेक्शन बताया था।

Related Post

झारखंड चुनाव

झारखंड चुनाव : चौथे चरण में 15 सीटों पर होने वाले मतदान को लेकर सुरक्षा के कड़े इंतजाम

Posted by - December 15, 2019 0
रांची। झारखंड विधानसभा चुनाव के चौथे चरण में 15 सीटों पर 16 दिसंबर को मतदान होगा। इस मतदान को लेकर…

योगेंद्र यादव का तंज, कहा- डिबेट में आने पर भाजपा प्रवक्ता खुद को एंकर समझ लेते हैं

Posted by - August 7, 2021 0
मोदी सरकार द्वारा पारित कृषि कानून को लेकर किसानों का प्रदर्शन जारी है, इसी मुद्दे को लेकर स्वराज इंडिया के…