अकेले चुनाव लड़ने वालों को जनता चप्पलों से मारेगी’, उद्धव के बयान से गठबंधन में दरार

230 0

महाराष्ट्र में तीनों दलों की गठबंधन सरकार में दरार की संभावना नजर आने लगी है, इसकी आशंका शिवसेना के 55वें स्थापना दिवस के अवसर पर सीएम के भाषण में दिखी। सीएम उद्धव ठाकरे ने कहा, शिवसेना की प्राथमिकता हिंदुत्व और मराठा अस्मिता है, हम इससे किसी भी तरह से समझौता नहीं कर सकते हैं।

उन्होंने कांग्रेस का नाम लिए बगैर कहा- जो लोग अकेले चुनाव लड़नेे की बात करते हैं जनता उन्हें चप्पलों से मारेगी, उनके इस बयान से कांग्रेसी नाराज हो गए। दरअसल कांग्रेस नेता नाना पटोले कई बार अगामी सभी चुनाव अकेले लड़ने की बात कर चुके हैं ऐसे में उद्धव का सीधा हमला उनकी ही पार्टी पर था।

संजय राउत ने भी कहा- जिन्हें अकेले चुनाव लड़ना है वह लड़ सकते हैं, शिवसेना ने अपने दम पर राजनैतिक युद्ध लड़ा है, हम तो मजबूती से लड़ेंगे।

संजय राउत ने कहा कि क्या हम चुपचाप बैठकर देखेंगे? जो लोग अकेले चुनाव लड़ना चाहते हैं, वो लड़ सकते हैं। शिवसेना ने अपने बल पर राजनैतिक युद्ध लड़ा है। उन्होंने आगे कहा कि चुनाव के समय भले ही गठबंधन हो सकता है लेकिन चुनाव अपने बल पर लड़ा जाता है। संजय राउत ने कहा कि चाहे ये मुद्दा महाराष्ट्र की साख का हो या शिवसेना के अस्तित्व का हो, अगर हमें लड़ना होगा, तो हम लड़ेंगे।

वहीं दादर इलाके में शिवसेना और भाजपा समर्थकों के बीच हुई झड़पों के स्पष्ट संदर्भ में, ठाकरे ने कहा कि जब कोई शोर करता है तो उनकी पार्टी के कार्यकर्ता धमाकेदार जवाब देते हैं। उन्होंने किसी पार्टी या घटना का उल्लेख किए बिना कहा, ‘एक संदेश चारों ओर जा रहा है कि अगर कोई शोर करता है, तो आप धमाकेदार जवाब देते हैं। मुझे यकीन है कि आप जानते हैं कि यह संदेश पिछले कुछ दिनों में क्यों प्रसारित हो रहा है।’

ठाकरे ने कहा कि सड़कों पर खूनखराबा शिवसेना कार्यकर्ताओं की असली पहचान नहीं है। लेकिन एक सच्चा शिवसेना कार्यकर्ता अन्याय का सामना करने वालों की मदद करने के लिए दौड़ता है। जिन्होंने हमारे खिलाफ आरोप लगाए, क्या वे ऐसे काम के लिए जाने जाते हैं?

Divyansh Singh

मिट्टी का तन, मस्ती का मन; छड़ भर जीवन, मेरा परिचय।

Related Post

भारत गौरव अलंकरण

ब्रिटिश पार्लियामेंट में निर्भया की मां आशा देवी को मिलेगा भारत गौरव अलंकरण

Posted by - March 20, 2020 0
नई दिल्ली। निर्भया के गुनहगारों को लंबे संघर्ष के बाद फांसी के तख्ते तक पहुंचाकर न्याय हासिल करने वाली निर्भया…