Oxygen Express

Oxygen Express, एयरफोर्स बने मददगार

398 0

वाराणसी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ रविवार को वाराणसी में कोरोना वायरस के संक्रमण की स्थिति का जायजा लेने पहुंचे। इस दौरान उन्होंने बीएचयू में डीआरडीओ द्वारा बनाए गए 750 बेड के अस्पताल का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि सरकार कोरोना महामारी का हर स्तर पर मुकाबला कर रही है। प्रदेश में कोरोना के एक्टिव केस में तेजी से कमी आ रही है। जहां रिकवरी रेट में सुधार हो रहा है। वहीं, संक्रमण में भी कमी आती जा रही है।

आठ दिन में ही प्रदेश में 77 हजार एक्टिव मरीज कम हुए हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बीएचयू में डीआरडीओ की मदद से बनकर तैयार 750 बेड के कोविड अस्पताल का निरीक्षण, मंडलीय समीक्षा बैठक के बाद मीडिया से बात की। उन्होंने कहा कि 30 अप्रैल को प्रदेश में कुल 3.10 लाख एक्टिव केस थे और आठ मई को घटकर 2.33 लाख आ गए। इस तरह 8 दिन में ही 77 हजार संख्या घट गई।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में 24 अप्रैल को एक दिन में सबसे ज्यादा 38 हजार केस आए जो अब कम होकर 23 हजार आ गया है। न केवल बनारस मंडल बल्कि बनारस जिले में भी कोरोना नियंत्रण के आशातीत परिणाम आए हैं। उन्होंने बताया कि यहां भी 1 सप्ताह में संक्रमण दर कम हुआ है और रिकवरी रेट में भी ज्यादा बढ़ोतरी हुई है। बनारस मंडल में 9285 केस कम हुए हैं जिसमें सबसे ज्यादा 4500 से अधिक बनारस जिले में ही है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि पहली वेब की तुलना में दूसरी वेब अधिक तेज है। इसमें तेजी से संक्रमण फैलने से लोगों में भय भी हो गया था। उधर अस्पतालों में ऑक्सीजन की डिमांड और बेड की डिमांड भी तेजी से बढ़ी। बेड बढ़ाए जाने के साथ ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रयास से न केवल ऑक्सीजन एक्सप्रेस (Oxygen express)  बल्कि एयर फोर्स की मदद से एयरफोर्स के विमानों का भी उपयोग किया गया। मेडिकल कॉलेज में भी खुद के संसाधनों का भी प्रयोग किया गया, जिसकी वजह से आॅक्सीजन (Oxygen express) की किल्लत को दूर किया गया। यूपी के अलग-अलग क्षेत्रों में एक हजार मैट्रिक टन ऑक्सीजन की आपूर्ति की जा रही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार महामारी का मुकाबला मजबूती से कर रही है। इसके लिए हर स्तर पर संसाधन भी बढ़ाए जा रहे हैं। टीकाकरण पर जोर देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि दो स्वदेशी वैक्सीन अभी फिलहाल लग रही है और तीसरी वैक्सीन के लिए भी सहमति मिल गई है। यूपी में 45 से अधिक उम्र के 1.37 करोड़ को वैक्सीन दी जा चुकी है जबकि 18 से अधिक उम्र वाले भी एक लाख से अधिक लोग टीका लगवा चुके है। उन्होंने बताया कि सभी को टिके के लिए आगे आना चाहिए। आसानी से टीकाकरण किया जा सके इसके लिए 4500 अधिक केंद्र भी टीकाकरण के बनाए गए हैं।

मुख्यमंत्री ने बताया कि 750 बेड के डीआरडीओ की मदद से बनाये गए अस्थायी अस्पताल से वाराणसी के साथ ही आसपास के जिलों के लोगो को बड़ी राहत होगी। यहां आर्मी मेडिकल कोर के साथ ही बीएचयू, स्वास्थ्य विभाग की ओर से भी स्वास्थ्यकर्मियों के अलावा अन्य संसाधनों को समन्वय स्थापित कर मुहैया कराया जाएगा।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कोरोना संक्रमण के दृष्टिगत हमें सभी चुनौतियों के लिए तैयार रहना होगा। बेड्स, चिकित्सा उपकरण मानव संसाधन को दोगुना किए जाने की दिशा में काम तेज किया जाए। ऑक्सीजन की बेहतर होती आपूर्ति के दृष्टिगत एल-2 और एल-3 श्रेणी के अस्पतालों में एक लाख बेड की क्षमता करने की कार्यवाही तेज की जाए। सभी 75 जिलों में ऑक्सीजन की आपूर्ति पर नजर रखी जाए। लखनऊ और कानपुर व आसपास के जिलों के लिए ऑक्सीजन एक्सप्रेस (Oxygen express) से आपूर्ति कराई गई है। इसी प्रकार सहारनपुर, गाजियाबाद और गौतम बुद्ध नगर आदि निकटस्थ जिलों के लिए बेहतर प्रबंध किए जा रहे हैं। वाराणसी के लिए 40 टन ऑक्सीजन (Oxygen express) कल भेजी गई है। गोरखपुर व आसपास के जिलों के लिए विशेष ट्रेन चलाये जाने की तैयारी है। सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कोरोना से बचाव के लिए प्रदेश सरकार द्वारा सभी नागरिकों को वैक्सीन का सुरक्षा कवर प्रदान किया जा रहा है।

उत्तर प्रदेश सर्वाधिक टीकाकरण करने वाला राज्य है। अब तक 1,37,22,160 डोज लगाए जा चुके हैं। 18-44 आयु वर्ग के 1,17,327 लोगों को वैक्सीनेट किया जा चुका है। अब सोमवार से 11 नए जिलों सहित कुल 18 जनपदों में 18-44 आयु वर्ग के लोगों का टीकाकरण संचालित होगा। वैक्सीन वेस्टेज को शून्य रखने के लक्ष्य के दृष्टिगत टीकाकरण के लिए आॅनलाईन पंजीयन व्यवस्था के साथ ही संबंधित लोगों से एक-दो दिन पूर्व संपर्क कर लिया जाए। लोगों के उत्साहवर्धन के लिए जनप्रतिनिधि गण भी टीकाकरण केंद्रों पर व्यवस्था का निरीक्षण करें। बीएचयू में अस्थायी कोविड हास्पिटल का किया निरीक्षण, कहा- कल से मिलेंगी सेवाएं वाराणसी, जेएनएन। कोरोना संक्रमण नियंत्रण को लेकर किए जा रहे प्रयासों को देखने-जानने बनारस आए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बीएचयू में डीआरडीओ की ओर से बनाए जा रहे पं. राजन मिश्र अस्थायी कोविड हास्पिटल का निरीक्षण किया। वेंटीलेटर व आक्सीजन युक्त बेड के साथ ही साधन-संसाधन की जानकारी ली।

बीएचयू हेलीपैड पर उतरने के बाद वे सीधे एंफीथिएटर मैदान पहुंचे थे जहां अस्पताल लगभग बन कर तैयार है। निरीक्षण परीक्षण के बाद उन्होंने विश्वविद्यालय के समिति कक्ष में स्थानीय अधिकारियों व जनप्रतिनिधयों के साथ बैठक कर कोरोना से जंग की दिशा में किए जा रहे प्रयासों की समीक्षा की। इस दौरान गाजीपुर, जौनपुर व चंदौली के अफसर आनलाइन बैठक से जुड़े। मीडिया से बातचीत में सीएम ने कहा कि काशी में सुपर स्पेशियलिटी केंद्र इस समय सबसे बड़ा सेंटर है लेवल थ्री का जिससे पूर्वांचल ही नहीं पश्चिमी बिहार तक को इलाज की सुविधा मिल रही है और जान बचा रहा है। डीआरडीओ व आर्मी की मदद से नया हास्पिटल में तेजी से कार्य चल रहा है। इसमें 250 बेड वेंटीलेटर के युद्ध स्तर पर कार्य करते हुए तैयार है। संभवत: कल से डीआरडीओ व आर्मी की मदद से सेंटर काम करने लगेगा। इसमें आर्मी मेडिकल कोर से जुड़े एक्सपर्ट, पैरामेडिक्स, हाउस कीपिंग स्टाफ भी है। शेष 250 बेड आक्सीजन (Oxygen express) युक्त भी है।  सीएम ने टिकरी गांव में निगरानी समिति से मुलाकात की। मेडिकल किट दी तो कोरोना संक्रमित परिवार का हाल जाना। बातचीत में एहतियात बरतने का सुझाव दिया और प्रशासन की ओर से दिए जा रहे सहयोग की जानकारी ली

Related Post

champat rai

राम मंदिर के लिए अब तक जुटाए 2500 करोड़, मुस्लिम समुदाय बढ़-चढ़कर दिया दान

Posted by - March 7, 2021 0
नई दिल्ली । राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने शनिवार को दिल्ली में मीडिया से बातचीत…