ये खूबसूरत महिला क्यूं बनी हुई है कट्टरपंथियों के लिए काल

517 0

नई दिल्ली। ट्रॉजर पहने महिला ने सऊदी अरब में कई कट्टरपंथियों के माथे पर शिकन पैदा कर दी है। इस महिला का नाम मशेल अल जालोद है। इन्हें देखकर हैरान होने वालों में सिर्फ पुरुष ही नहीं थे बल्कि युवा महिलाएं भी शामिल थीं। 33 वर्षीय मशेल ह्यूमन रिसोर्स स्‍पेशलिस्‍ट हैं और अबाया समेत ऐसे कपड़ों के सख्‍त खिलाफ हैं।जो उन्‍हें मनचाहा जीवन जीने में बाधा बनते हैं।

ये भी पढ़ें :-कौन बनेगा करोड़पति की प्रतिभागी राकेश शर्मा रूढ़िवादिता को तोड़ बनी मिशाल, जीते 25 लाख 

आपको बता दें मशेल सऊदी महिला की नई पहचान बन रही हैं। जिस वक्‍त वो मॉल से बाहर निकली तो हर किसी का ध्‍यान उन्‍होंने अपनी तरफ खींच लिया। एक महिला ने उन्‍हें रोककर यहां तक पूछ लिया कि क्‍या वह मॉडल हैं। इस पर उनका जवाब था कि वह मॉडल नहीं बल्कि एक आम सऊदी महिला हैं जो अपनी इच्‍छा से जीना चाहती हैं।

ये भी पढ़ें :-भारत की यूरोपा भौमिक सबसे कम उम्र में बनी महिला बॉडीबिल्डर 

जानकारी के मुताबिक सऊदी महिलाओं को नई पहचान देने वालों में मशेल अकेले नहीं हैं बल्कि कुछ और भी इसमें शामिल हैं। मनहेल अल ओटेबी इन्‍हीं में से एक हैं। वह बीते चार माह से बिना अबाया के सऊदी की सड़कों पर घूम रही हैं। उनका भी कहना है कि वह खुलकर जीना चाहती हैं। उन्‍हें जबरदस्‍ती कोई भी कुछ पहनने के लिए राजी नहीं कर सकता है।

Loading...
loading...

Related Post

राहुल और पांड्या का ऑस्ट्रेलिया से भारत लौटने के बाद इन दो खिलाड़ियों को मिला मौका

Posted by - January 13, 2019 0
स्पोर्ट्स डेस्क। महिलाओं पर की गई आपत्तिजनक टिप्पणियों के बाद निलंबित किए गए लोकेश राहुल और हार्दिक पांड्या की जगह…