तालिबानी आतंकियों ने की सरकार के मीडिया प्रमुख की हत्या

487 0

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार तालिबान के एक प्रवक्ता ने कहा मेनापाल की हत्या मुजाहिदीन द्वारा किए गए एक खास हमले में की गई और उनके कर्मों के लिए सजा दी गई। उल्लेखनीय है कि युद्धग्रस्त देश में विरोधियों की आवाजें दबाने के लिए तालिबानी आतंकवादी कई हत्याएं कर चुके हैं। इनमें सामाजिक कार्यकर्ता, नौकरशाह, न्यायाधीश शामिल हैं।

बता दें कि तालिबान और अफगानिस्तान के सुरक्षा बलों के बीच लड़ाई पिछले कुछ महीनों में तेज हुई है। अमेरिकी और नाटो सैनिकों ने भी अफगानिस्तान से अपने सैनिकों को पूरी तरह से वापस बुला लिया है। ऐसी स्थिति में तालिबान छोटे प्रशासनिक जिलों को अपने नियंत्रण में ले चुका है और अब प्रांतीय राजधानियों को कब्जा करने की कोशिशें कर रहा है।

वहीं, भारत ने गुरुवार को कहा था कि वह छह अगस्त को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (यूएनएससी) की बैठक में अफगानिस्तान में बिगड़ रहे हालात को लेकर अपने विचार साझा करेगा। इसके साथ ही, तालिबान की हिंसा को देखते हुए व्यापक संघर्ष विराम के लिए जोर देगा। उल्लेखनीय है कि अगस्त माह के लिए यूएनएससी की अध्यक्षता भारत के पास है।

अगले साल मार्च तक आ जाएगी सीरम की ‘कोवोवैक्स’

संयुक्त राष्ट्र की एक रिपोर्ट के अनुसार अफगानिस्तान में बढ़ते संघर्ष के कारण इस साल की शुरुआत से लेकर अब तक करीब तीन लाख 60 हजार लोग विस्थापित होने के लिए मजबूर हुए हैं। अफगानिस्तान में संयुक्त राष्ट्र के सहायता अभियान ने शहरी इलाकों में लड़ाई तुरंत बंद करने का आह्वान किया है। इसने कहा है कि आम जनता हिंसा का शिकार हो रही हैं।

Divyansh Singh

मिट्टी का तन, मस्ती का मन; छड़ भर जीवन, मेरा परिचय।

Related Post

जिस मंदिर में मुसलमानों के प्रवेश पर रोक वहां साधु पर धारदार हथियार से हुआ हमला

Posted by - August 10, 2021 0
उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में स्थित डासना देवी मंदिर में कुछ अज्ञात लोगों ने स्वामी नरेश आनंद सरस्वती पर जानलेवा…