अमित शाह ने कहा,”डर गई हैं ममता,अपनी तीनों यात्राएं करूंगा,जितना जोर लगाना है, लगा लें”

531 0

नई दिल्ली। चुनाव के समय जहाँ सभी पार्टियां अपने-अपने तरीके से चुनाव प्रचार कर रही है वहीँ चुनावी रैलियां भी आम होगी हैं। वहीँ पश्चिम बंगाल में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह की रैली पर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने प्रतिबन्ध लगा दिया है साथ ही कलकत्ता हाईकोर्ट ने भी राज्य सरकार के विरोध के बाद अमित शाह की रथ यात्रा निकालने के लिए भाजपा को अनुमति देने से इनकार कर दिया था। इसपर अमित शाह ने बंगाल में मुख्यमंत्री पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि ममता भाजपा की रथ यात्रा से डरी हुई हैं। मैं अपनी तीनों यात्राएं करूंगा। हम जो कुछ करेंगे वह कानूनी तौर पर होगा। अभी यात्रा की तारीखें बढ़ाई गईं हैं, उन्हें रद्द नहीं किया गया है। यात्रा बंगाल के हर हिस्से से होकर गुजरेगी। ममता को जितना जोर लगाना है, लगा लें।

साथ ही भाजपा अध्यक्ष शाह की यात्रा 7 दिसंबर से बिहार से शुरू होनी थी। यह बंगाल के 24 जिलों से गुजरती। अमित शाह ने कहा, ”बंगाल में हमारे कार्यक्रमों से कौमी एकता को कोई खतरा नहीं है। मैंने और मोदीजी ने कई रैलियां और दौरे किए। हमारे वहां जाने से एक भी दंगा नहीं हुआ। वहां के अधिकारी सरकार को खुश करने के लिए तुष्टिकरण का रवैया अपनाते हैं।”उन्होंने आगे कहा, ”रथ यात्रा और दुर्गा विसर्जन में रोड़े डालना बंगाल सरकार की परंपरा रही है। यहां महिलाओं की स्थिति देश में सबसे दयनीय है। मानव तस्करी के कई गिरोह पकड़े गए। शिक्षा के क्षेत्र में बंगाल में डोनेशन राज चल रहा है। भाजपा के कार्यकर्ता इस तरह के दमन से नहीं डरते हैं।”

इतना ही नहीं बल्कि भाजपा अध्यक्ष ने दावा किया कि उनकी पार्टी 2019 के चुनाव में बंगाल में जीत दर्ज करेगी। उन्होंने कहा,”मैं रथ यात्रा के लिए बंगाल जाऊंगा। हम ममता बनर्जी के सामने समर्पण नहीं करेंगे। उनकी ईंट से ईंट बजाएंगे।” भाजपा ने बुधवार को हाईकोर्ट में याचिका दायर कर के कहा था कि पुलिस और राज्य प्रशासन रथ यात्रा निकालने की पार्टी की अर्जियों पर कोई जवाब नहीं दे रहा है। लिहाजा, कोर्ट इस मामले में निर्देश जारी करे।इस पर राज्य सरकार ने हाईकोर्ट से कहा कि भाजपा की प्रस्तावित रथ यात्रा से बंगाल के जिलों में साम्प्रदायिक तनाव फैल सकता है। वहीं, भाजपा ने जस्टिस तपव्रत चक्रवर्ती की बेंच से कहा था कि हम शांतिपूर्ण यात्राएं निकालेंगे।

गौरतलब है कि हाईकोर्ट ने गुरुवार को सुनवाई करते हुए कहा कि हम उन 24 जिलों से मिलने वाली रिपोर्ट पर गौर करेंगे जहां से यह रथ यात्रा निकाली जानी है। हाईकोर्ट ने इस पर पूछा कि अगर कोई अप्रिय घटना होती है तो उसकी जिम्मेदारी कौन लेगा? तो इस पर भाजपा की तरफ से पेश वकील अनिंद्य मित्रा ने कहा कि पार्टी शांतिपूर्ण यात्रा निकालेगी लेकिन कानून व्यवस्था बनाए रखने की जिम्मेदारी राज्य सरकार की है।

Related Post

ravi shankar prasad

राहुल पर प्रसाद का हमला: कहा- कांग्रेस शासित राज्यों में टीके की नहीं बल्कि प्रतिबद्धता की कमी

Posted by - April 9, 2021 0
नई दिल्ली। देश में कोरोना वायरस संक्रमण के चलते बिगड़ती स्थिति और टीकाकरण को लेकर केंद्र सरकार पर सवाल उठाने…
wb election violence FIle photo

बंगाल चुनाव में हिंसा: शीतलकुची में कुल 4 लोगों की मौत, CISF के जवानों पर गोली चलाने का आरोप, आयोग ने तलब की रिपोर्ट

Posted by - April 10, 2021 0
कोलकाता । पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में चौथे चरण के मतदान के आरंभ में ही बंगाल में हिंसा का तांडव…