Tax

2021-2022 के लिए रिकॉर्ड Tax कलेक्शन, 27 लाख करोड़ रुपये के पार

62 0

नई दिल्ली: वित्त मंत्रालय (Finance Ministry) ने गुरुवार को वित्त वर्ष 2021-22 में कुल Tax कलेक्शन का ब्योरा जारी किया है। सरकारी आंकड़ों के मुताबिक 2021-22 में प्रत्यक्ष कर में 49% और अप्रत्यक्ष कर में 30% की मजबूत वृद्धि हुई है। वित्त वर्ष 2021-22 में मोदी सरकार (Modi government) का कुल कर राजस्व 34% की रिकॉर्ड वृद्धि के साथ 27.07 लाख करोड़ रुपये तक पहुंच गया। यह बजट (Budget) अनुमान से करीब 5 लाख करोड़ रुपये ज्यादा है। 2021-22 के बजट में कर से आय 22.17 लाख करोड़ रुपये होने का अनुमान लगाया गया था। 2020-21 में कर राजस्व 20.27 लाख करोड़ रुपये था।

प्रत्यक्ष कर में 49 फीसदी की बढ़ोतरी

आंकड़ों के मुताबिक, वित्त वर्ष 2021-22 में प्रत्यक्ष कर संग्रह 49% की तेज वृद्धि के साथ 14.10 लाख करोड़ रुपये तक पहुंच गया। जबकि अप्रत्यक्ष कर संग्रह में 30% की वृद्धि हुई है और यह 12.90 लाख करोड़ रुपये रहा। राजस्व सचिव तरुण बजाज ने कहा कि प्रत्यक्ष कर संग्रह पिछले वित्त वर्ष के बजट अनुमान से 3.02 लाख करोड़ रुपये अधिक है। सीमा शुल्क से आय में भी 41% की वृद्धि हुई है।

तरुण बजाज के अनुसार, कर राजस्व में वृद्धि अर्थव्यवस्था में सुधार को दर्शाती है। उन्होंने बताया कि उत्पाद शुल्क का संग्रह भी बजट अनुमान से अधिक रहा है. 2021-22 में टैक्स-टू-जीडीपी अनुपात 11.7% था। वित्त वर्ष 2020-21 में टैक्स-टू-जीडीपी अनुपात 10.3% रहा। यह 1999 के बाद सबसे ज्यादा है।

यह भी पढ़ें: चक्रवाती तूफान ने मचाई तबाहीम, 1000 से अधिक घर क्षतिग्रस्त

Related Post