राजस्थान मंत्रिमंडल का शपथ ग्रहण आज,कई विधायक पहली बार बनेंगे मंत्री

565 0

जयपुर।एक तरफ चुनावी खींच तान के बाद जहाँ कांग्रेस ने सभी तीनो विजित राज्यों में मुख्यमंत्री पदों की घोषणा कर दी है वहीँ साथ ही मुख्यमंत्री पद के लिए राजस्थान में अशोक गहलोत मुख्यमंत्री के रूप में और सचिन पायलट उपमुख्यमंत्री के रूप में जहाँ शपथ ले चुके हैं वहीँ मध्यप्रदेश में कमलनाथ और छत्तीसगढ़ में भूपेश भघेल का नाम सामने आया।वहीँ राजस्थान में अशोक गहलोत मंत्रिमंडल का भी शपथ ग्रहण शुरू हो गया है। तीन दिन चले मंथन के बाद दिल्ली में राजस्थान का मंत्रिमंडल तय हुआ। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट के साथ चर्चा के बाद 23 मंत्री तय किए। नए मंत्रियों को राजभवन में राज्यपाल कल्याण सिंह शपथ दिलाएंगे। इनमें 13 कैबिनेट व 10 राज्यमंत्री होंगे।

साथ ही मंत्रिमंडल पर नजर डालें तो 18 विधायक पहली बार मंत्री बनेंगे, जबकि पहली बार चुनकर आए 25 से अधिक विधायकों में से किसी को भी मंत्री नहीं बनाया है। 11 महिला विधायकों में से एकमात्र सिकराय विधायक ममता भूपेश मंत्री होंगी। मुस्लिमों में भी सिर्फ पोकरण विधायक सालेह मोहम्मद को मौका दिया है। गठबंधन के दल आरएलडी से विधायक सुभाष गर्ग भी मंत्री होंगे।

बता दें बीडी कल्ला (बीकानेर), शांति धारीवाल (कोटा उत्तर), परसादी लाल मीणा (लालसोट), सुजानगढ़ से मास्टर भंवरलाल मेघवाल, झोटवाड़ा से लालचंद कटारिया, रमेश मीणा (सपोटरा), प्रताप सिंह (सिविल लाइंस), विश्वेंद्र सिंह (डीग-कुम्हेर) को मंत्रिमंडल में स्थान दिया गया है। केकड़ी विधायक रघु शर्मा, अंता से प्रमोद जैन भाया, बायतू से हरीश चौधरी, चित्तौड़गढ़ से उदयलाल आंजना, पोकरण विधायक सालेह मोहम्मद भी कैबिनेट मंत्री बनेंगे।

इसके साथ ही लक्ष्मणगढ़ (सीकर) विधायक गोविंद सिंह डोटासरा, सिकराय से ममता भूपेश, बांसवाड़ा से अर्जुन बामनिया, कोलायत से भंवर सिंह भाटी, सांचौर से सुखराम विश्नोई, हिंडौली से अशोक चांदना, अलवर ग्रामीण से टीकाराम जूली, वैर से भजनलाल जाटव, कोटपूतली से राजेन्द्र यादव और गठबंधन दल आरएलडी के भरतपुर से विधायक सुभाष गर्ग राज्यमंत्री या स्वतंत्र प्रभार वाले मंत्री होंगे।

इतना ही नहीं कुछ कांग्रेस नेता ऐसे भी हैं जो पहली बार मंत्री पद की शपथ लेंगे जिनके नाम हैं,रघु शर्मा, लाल चंद, विश्वेंद्र सिंह, हरीश चौधरी, रमेश मीणा, प्रताप सिंह, उदयलाल आंजना, सालेह मोहम्मद, गोविंद डोटासरा, ममता भूपेश, अर्जुन बामनिया, भंवर सिंह, सुखराम विश्नोई, अशोक चांदना, टीकाराम जूली, भजनलाल, राजेन्द्र यादव, सुभाष गर्ग।

गौर करने वाली बात ये है कि जयपुर-भरतपुर से सबसे ज्यादा मंत्री चुने गए हैं साथ ही 14 जिलों से कोई भी मंत्री नहीं। सबसे ज्यादा 3-3 मंत्री जयपुर व भरतपुर से। दौसा-बीकानेर से 2-2, अलवर, चूरू, चित्तौड़, जालौर, बूंदी, अजमेर, कोटा, बाड़मेर, करौली, जैसलमेर, सीकर, बांसवाड़ा व बारां से 1-1 मंत्री।

Related Post