TLP कार्यकर्ताओं से हिंसा में जला पाकिस्‍तान, झड़प में 4 पुलिसकर्मियों की मौत

28 0

इस्‍लामाबाद। पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान में एक बार फिर हालात बिगड़ते जा रहे हैं। वहां के पंजाब प्रांत में कट्टरपंथी संगठन तहरीक-ए-लबैक पाकिस्तान (TLP) के समर्थकों और पुलिस के बीच हिंसक झड़पें हो रहीं हैं। ये हिंसा तब भड़की जब इमरान सरकार और TLP के बीच हुई बातचीत नाकाम हो गई। पाकिस्‍तान के कई शहरों में TLP के हिंसक प्रदर्शनों से हालात बेहद खराब हो गए हैं।

वहीं, पंजाब प्रांत के मुख्‍यमंत्री उस्‍मान बुजदर के मुताबिक टीएलपी के फायरिंग में कम से कम 4 पुलिसकर्मियों की मौत हो गई है और 250 अन्‍य लोग घायल हो गए हैं। तनावपूर्ण हालात के बीच पंजाब प्रांत में अगले 60 दिनों के लिए पाकिस्‍तानी सेना को तैनात कर दिया गया है। बताया जा रहा है कि, घायलों में 70 पुलिसकर्मी हैं जिसमें से 8 लोगों की हालत गंभीर है। पाक के पंजाब प्रांत के एक पुलिस के प्रवक्‍ता ने बताया कि, TLP के सदस्‍य पुलिसकर्मियों पर हमले के लिए मशीनगन, एके-47 राइफल और पिस्‍तौल का इस्‍तेमाल कर रहे हैं। उन्‍होंने बताया कि इसी वजह से पुलिसकर्मियों की मौत हो गई है।

दरअसल, कट्टरपंथी संगठन टीएलपी दो मांगों को लेकर सड़क पर उतरा हुआ है। पहली मांग टीएलपी के चीफ साद रिजवी को रिहा करने की है तो दूसरी मांग फ्रांस के राजदूत को इस्लामाबाद से वापस फ्रांस भेजने की है। इमरान सरकार पहली मांग मानने के लिए तैयार हो गई, लेकिन दूसरी मांग मानना इतना आसान नहीं है।

आपको बता दें कि, फ्रांस FATF का मेजबान देश है और उसी FATF में पाकिस्तान ग्रे लिस्ट का दंश झेल रहा है। अब ऐसे में जहां ग्रे लिस्ट से बाहर निकलने के लिए पाकिस्तान छटपटा रहा है, उस हाल में पीएम इमरान खान फ्रांस के राजदूत को इस्लामाबाद से वापस फ्रांस भेजने के बारे में सोच नहीं सकते।

Related Post

राधा यादव

भारतीय स्पिनर राधा यादव चौके ने श्रीलंका को किया चित, पढ़ें टीम इंडिया तक का सफर

Posted by - February 29, 2020 0
नई दिल्ली। महिला वर्ल्ड टी-20 में भारतीय टीम का अजेय प्रदर्शन जारी है। जीत के रथ पर सवार टीम इंडिया…
अभिनंदन वर्द्धमान

Flashback 2019: विंग कमांडर अभिनंदन वर्द्धमान ने जानें कैसे पाक की नापक हरकत को किया फेल?

Posted by - December 13, 2019 0
नई दिल्ली। भारतीय वायु सेना के विंग कमांडर अभिनंदन वर्द्धमान इस साल फरवरी में भारत और पाकिस्तान के बीच सैन्य…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *