मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड, कंधे पर एके 47 रखकर चलना कौन सा इस्लाम है।

79 0

अफगानिस्तान में तालिबान की सरकार बनने के बाद कुछ लोगों की ओर से उसका समर्थन करने पर ऑल इंडिया शिया पर्सनल लॉ बोर्ड ने निंदा की। बोर्ड ने चेतावनी दी कि तालिबान की हिमायत भी करो और हिंदुस्तान में रहो, इसे बर्दाश्त नही करेंगे।बोर्ड के महासचिव मौलाना यासूब अब्बास ने वीडियो जारी कर कहा कि हजरत इमाम हुसैन ने इस्लाम को आगे बढ़ाया और इंसानियत को सिखाया। आज उन्हीं के नाम के झंडों को उतारकर तालिबान आगे बढ़ रहा है। तालिबान हिंदुओं और शिया कौम के खिलाफ है।

कंधे के ऊपर एके 47 रखकर चलना कौन सा इस्लाम है। ये हुसैनी इस्लाम नहीं है। यह गले कटाने वाला नहीं बल्कि गले काटने वाला इस्लाम है। उन्होंने कहा कि कुछ मुसलमान तालिबान की तारीफ कर उनका समर्थन कर रहे हैं। बोर्ड इसे बर्दाश्त नही करेगा।

टैगोर काले थे इसलिए उनकी मां उन्हें गोद में नहीं उठाती थीं- केंद्रीय मंत्री का विवादित बयान, भड़की TMC

मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ऑफ इंडिया ने महासचिव डॉ. मुईन अहमद खान ने कहा कि तालिबान ने हमेशा सूफिज्म को नुकसान पहुंचाया है। उन्होंने मौलाना सज्जाद नोमानी के तालिबान सरकार का समर्थन करने का आरोप लगाते हुए उसकी निंदा की है। उन्होंने कहा कि संगठन कट्टरपंथी सोच के खिलाफ अभियान चलाने के लिए 23 व 24 अगस्त को कार्यकारिणी बैठक रणनीति तैयार करेगा। उन्होंने कहा कि इस्लाम हिंसा के खिलाफ है।

Divyansh Singh

मिट्टी का तन, मस्ती का मन; छड़ भर जीवन, मेरा परिचय।

Related Post

'next inning' from Amul on Dhoni's retirement

देखिए धोनी के रिटायमेंट पर अमूल से लेकर गूगल ने कैसे दी ‘नेक्स्ट इनिंग’ की शुभकामनाएं

Posted by - August 16, 2020 0
नई दिल्लीः महेंद्र सिंह धोनी ने कल रात अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कह दिया। इसके बाद देशभर में उनके प्रशंसक…

यूपी पुलिस की बर्बरता! कहासुनी होने पर दलितों के मकानों को बुलडोजर से ढहाया, कांग्रेस ने की जांच की मांग

Posted by - July 6, 2021 0
उत्तर प्रदेश पुलिस की बर्बरता की खबर सामने आई है, जहां पुलिस ने आजमगढ़ जिले में दलितों के चार मकानों…

यूपी : 5 महीने बीतने के बाद भी पंचायत चुनाव में जान गवाने वाले लोगों के परिजनों को नहीं मिली मदद

Posted by - August 28, 2021 0
उत्तर प्रदेश में पंचायत चुनाव के दौरान करीब 1600 कर्मचारियों की मौत हुई थी, इसके पीछे कोरोना के बीच चुनाव…
दूसरे दिन 100 से अधिक शोध पत्रों का किया प्रस्तुतीकरण

दूसरे दिन 100 से अधिक शोध पत्रों का किया प्रस्तुतीकरण

Posted by - March 18, 2021 0
प्रो. अनिल शुक्ला पूर्व कुलपति, एमजेपी रूहेलखण्ड विश्वविद्यालय बरेली ने कहा कि शारीरिक शिक्षा और खेल नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति…