नई इंडस्ट्री पॉलिसी

मोदी सरकार जल्द कर सकती है नई इंडस्ट्री पॉलिसी का एलान

302 0

नई दिल्ली। केंद्र की मोदी सरकार जल्दी ही इंडस्ट्री और नौकरियों में बढ़ोत्तरी करने के उद्देश्य से अपनी नई इंडस्ट्रियल पॉलिसी का एलान करने वाली है। इस बादत की जानकारी खुद राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने गुरुवार को लोकसभा में संयुक्त अधिवेश को संबो​धित करते हुए दी।

नई पॉलिसी 1991 की इंडस्ट्रियल पॉलिसी की लेगी जगह

राष्ट्रपति ने संबोधित करते हुए कहा कि भारत को वैश्विक विनिर्माण केंद्र में बदलाव के लिए काम करना है। उन्होंने कहा कि इंडस्ट्री 4.0 को ध्यान में रखते हुए एक नई इंडस्ट्रियल पॉलिसी का एलान जल्द ही किया जाएगा। नई पॉलिसी 1991 की इंडस्ट्रियल पॉलिसी की जगह लेगी, जिसे पेमेंट क्राइसिस के संतुलन के लिए तैयार किया गया था। 1956 और 1991 में जारी होने के बाद यह भारत की तीसरी इंडस्ट्रियल पॉलिसी होगी।

World Refugee Day : प्रियंका चोपड़ा ने बच्चों संग शेयर किया इमोशनल वीडियो

नई पॉलिसी का उद्देश्य उभरते क्षेत्रों को बढ़ावा देना और मौजूदा इंडस्ट्री का आधुनिकीकरण करना

राष्ट्रपति ने कहा कि इस पॉलिसी का उद्देश्य उभरते क्षेत्रों को बढ़ावा देना और मौजूदा इंडस्ट्री का आधुनिकीकरण करना होगा। इसके साथ ही यह पॉलिसी रेग्युलेटरी बाधाओं को कम करने और रोबोटिक्स और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस जैसी टेक्नोलॉजी को अपनाने के लिए प्रोत्साहित करने का भी काम करेगी। अगस्त 2017 में कॉमर्स और इंडस्ट्री मिनिस्ट्री के तहत डिपार्टमेंट फॉर प्रमोशन ऑफ इंडस्ट्री एंड इंटरनल ट्रेड (DPIIT) ने अगले दो दशकों के लिए नौकरियों को बढ़ाने, विदेशी टेक्नोलॉजी ट्रांसफर को बढ़ावा देने और 100 बिलियन डालर के FDI यानी की प्रत्यक्ष विदेशी निवेश को आकर्षित करने के उद्देश्य से एक इंडस्ट्रियल पॉलिसी को तैयार किया था।

कोविंद ने कहा कि भारत दुनिया के सबसे अधिक स्टार्ट-अप वाले देशों की सूची में शामिल हो गया

देश में स्टार्ट-अप इकोसिस्टम को मजबूत करने के बारे में बात करते हुए कोविंद ने कहा कि भारत दुनिया के सबसे अधिक स्टार्ट-अप वाले देशों की सूची में शामिल हो गया है। उन्होंने कहा कि स्टार्ट-अप इकोसिस्टम को बेहतर बनाने के लिए सरकार नियमों को आसान बना रही है। और इस अभियान को और तेज किया जाएगा। राष्ट्रपति ने कहा कि सरकार 2024 तक देश में 50,000 स्टार्ट-अप स्थापित करने के लक्ष्य को लेकर चल रही है।

भारत ने पिछले 5 सालों के दौरान इज आफ डूइंग बिजनेस की इंडेक्स में काफी तरक्की की

देश में बिजनेस के लिए अनुकूल वातावरण बनाने के लिए कोविंद ने कहा कि सरकार राज्यों के साथ प्रक्रियाओं को आसान करने के लिए काम कर रही है। उन्होंने कहा भारत ने पिछले 5 सालों के दौरान इज आफ डूइंग बिजनेस की इंडेक्स में काफी तरक्की की है। 2104 में भारत का स्थान 144 वां था जबकि 2017 में भारत ने इस लिस्ट में 77 वां स्थान हासिल करने में कामयाबी हासिल की थी।

Related Post

केजीएमयू

केजीएमयू डॉक्टरों ने घुटने और कूल्हे का प्रत्यारोपण कर अपंग मरीज को दी नई जिंदगी

Posted by - March 15, 2020 0
लखनऊ। केजीएमयू के अस्थि शल्य विभाग के डॉक्टरों ने एक मरीज को नया जीवन दिया है। डॉक्टरों ने मरीज के…
Nirmala Sitharaman

Yes बैंक के जमाकर्ताओं की पूंजी पूरी तरह सुरक्षित, न करें चिंता : निर्मला सीतारमण

Posted by - March 6, 2020 0
नई दिल्ली। केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शुक्रवार को Yes बैंक के जमाकर्ताओं को भरोसा दिलाया है। उन्होंने कहा…