पुलवामा अटैक

पुलवामा अटैक : जैश आतंकी निसार अहमद तांत्रे ने किया चौंकाने वाला खुलासा

478 0

नई दिल्ली। बीते 14 फरवरी को जम्मू-कश्मीर के पुलवामा अटैक को लेकर एक बहुत बड़ा खुलासा हुआ है। इस हमले पर भारत के पास अहम साक्ष्य मौजूद हैं, जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी ने ये कबूल लिया है कि पुलवामा अटैक के बारे में वह पहले से जानता था।

14 फरवरी को जम्मू-कश्मीर के पुलवामा अटैक के बारे में पहले से था जानता

बता दें कि हाल ही में भारत के हाथ जैश-ए-मोहम्मद का सदस्य निसार अहमद तांत्रे लगा है। यह आतंकी एक हफ्ते पहले ही यूएई ने भारत को सौंपा है। तांत्रे ने कबूल लिया है कि वह 14 फरवरी को जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए आत्मघाती हमले के बारे में पहले से जानता था।तांत्रे ने पूछताछ में बताया कि उसे इस हमले की जानकारी इसलिए थी, क्योंकि हमले के मुख्य साजिशकर्ता मुदस्सिर खान ने उसे भी इस हमले को अंजाम देने में शामिल होने को कहा था। ये हमला जैश-ए-मोहम्मद ने कराया था।

ये भी पढ़ें :-खाते में आएंगे 15 लाख, कभी नहीं कही ये बात – राजनाथ सिंह 

मुदस्सिर खान ने तांत्रे से प्लान बनाने और आतंकी हमले को अंजाम देने के लिए मांगी थी सहायता 

तांत्रे ने बताया कि मुदस्सिर खान ने उसे सोशल मीडिया एप की सहायता से काफिले पर हमले की योजना के बारे में बताया था। खान ने तांत्रे से कहा था कि फरवरी के बीच में वह पुलवामा में ही कहीं भारी विस्फोटकों से हमला करने वाला है। खान ने तांत्रे से प्लान बनाने और आतंकी हमले को अंजाम देने के लिए सहायता मांगी थी।

ये भी पढ़ें :-लोकसभा चुनाव 2019 : बीजेपी के तीन दर्जन से अधिक नेताओं ने छोड़ी पार्टी

निसार अहमद तांत्रे मारे गए आतंकी नूर अहमद का है भाई

जानकारी के मुताबिक, तांत्रे जैश का सीनियर कमांडर रह चुका है। इसके साथ ही वह मारे गए आतंकी नूर अहमद का भाई है। वह इस साल एक फरवरी को भारत से भाग गया था। हालांकि तांत्रे ने इस हमले से जुड़े होने की बात से साफ इंकार किया है।

पुलवामा अटैक का प्लान बनाने में महीनों का लगता है समय 

इस बारे में एनआईए के अधिकारी ने बताया कि निसार तांत्रे कश्मीर में जैश-ए-मोहम्मद का सीनियर कार्यकर्ता है। उसके स्तर के कमांडरों को सभी योजनाओं के बारे में पता होता है, खासतौर से पुलवामा जैसे हमले के बारे में, जिसका प्लान बनाने में महीनों का समय लगता है।उन्होंने आगे कहा कि हम हमले में उसकी भूमिका को लेकर पूछताछ कर रहे हैं, क्योंकि उसके यूएई जाने का समय संदिग्ध है। हो सकता है कि उसने पुलवामा अटैक में सक्रिय भाग लिया हो और पकड़े जाने के डर से 14 फरवरी से पहले यूएई भाग गया हो।

Loading...
loading...

Related Post

निर्भया केस

तारीख पे तारीख से आजिज कोर्ट के बाहर धरने पर बैठीं निर्भया की मां, मांग रहीं इंसाफ

Posted by - February 12, 2020 0
नई दिल्ली। निर्भया के दोषियों को फांसी की नई तारीख बुधवार को फिर जारी नहीं हुई है। कोर्ट ने इस…

महाराष्ट्र के वर्धा में सेना के हथियार डिपो में धमाका : 6 की मौत, आधा दर्जन जख्मी

Posted by - November 20, 2018 0
नागपुर। महाराष्ट्र के वर्धा स्थित पुलगांव आर्मी डिपो में मंगलवार सुबह धमाका हो गया है।वर्धा के सोनेगांव अंबाजी में सेंट्रल…