ISI के हाथों की कठपुतली है तालिबान, अफगानिस्तान की चिंता छोड़ देश की सुरक्षा पर ध्यान दें PM- ओवैसी

109 0

अफगानिस्तान में तालिबान के कब्जे के बाद हालात लगातार बिगड़ते जा रहे हैं, उसको लेकर भारत में लगातार बयानबाजी हो रही है। गुरुवार देर रात एआईएमआईएम के एक कार्यक्रम में पार्टी चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने भारत सरकार पर हमला बोला है।उन्होंने कहा- भारत सरकार को उन महिलाओं की चिंता ज्यादा है जो अफगानिस्तान में हैं, अपने यहां की महिलाओं पर वे कुछ नहीं बोलते। उन्होंने कहा- भारत में महिलाओं के प्रति अपराध के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। लेकिन, हमें चिंता अफगानिस्तान की  महिलाओं की है।

उन्होंने कहा- आईएसआई पहले से ही भारत का दुश्मन है और आईएसआई ही तालिबान को कंट्रोल करता है, सरकार इस पर ध्यान दे।ओवैसी ने कहा कि तालिबान के अफगानिस्तान पर कब्जे से सबसे ज्यादा फायदा पाकिस्तान को हुआ है। विशेषज्ञों का कहना है कि अलकायदा जैसे आतंकी संगठन फिर से अफगानिस्तान के कुछ इलाकों में सक्रिय हो गए हैं। आईएसआई पहले से ही भारत का दुश्मन है। हमें यह याद रखना चाहिए कि आईएसआई ही तालिबान को कंट्रोल करता है और तालिबान उसके हाथों की कठपुतली है।

हैदराबाद के सांसद ओवैसी पहले भी मोदी सरकार पर हमला बोल चुके हैं। दो दिन पहले उन्होंने ट्वीट के माध्यम से कहा था कि अफगानिस्तान से अमेरिकी सेना की वापसी तय थी। 2013 की शुरुआत में मैने सरकार को हमारे सामरिक हितों को सुरक्षित करने के लिए तालिबान के साथ संवाद स्थापित करने की सलाह दी थी। हमने अफगानिस्तान में तीन अरब डॉलर का निवेश किया है, लेकिन सरकार ने इस ओर ध्यान नहीं दिया।

विकास दुबे एनकाउंटर में जांच आयोग ने पुलिस को दी क्‍लीन चिट!

इससे पहले शायर मुनव्वर राना ने तालिबान का समर्थन किया। उनका कहना है कि तालिबानी लड़ाकों ने किसी मुल्क पर हमला नहीं किया बल्कि उन्होंने अमेरिका द्वारा अफगानिस्तान में अपनी सैन्य ताकत के बलबूते जो सरकार बनाई गई थी उसे ही उखाड़ फेंका है। इस तरह तालिबान ने तो अपने मुल्क को आजाद कराया है। मुनव्वर राना का कहना है कि जिस किस्म की क्रूरता अफगानिस्तान में है, उससे ज्यादा क्रूरता तो हमारे यहां भी है। पहले रामराज था, मगर अब काम राज है। भगवान राम से काम है तो ठीक है। उन्होंने कहा कि जितनी एके-47 तालिबान के पास नहीं होंगी, उतनी तो हिंदुस्तान के माफियाओं के पास हैं। तालिबानी तो हथियार छीनकर और मांगकर लाते हैं, मगर हमारे यहां माफिया तो खरीदते हैं।

Divyansh Singh

मिट्टी का तन, मस्ती का मन; छड़ भर जीवन, मेरा परिचय।

Related Post

मिजोरम पुलिस ने असम सीएम के खिलाफ दर्ज किया केस, जोरमथंगा बोले- भाई जैसे हैं हिमंत

Posted by - July 31, 2021 0
असम-मिजोरम के बीच जारी सीमा विवाद कम होने का नाम नहीं ले रहा है, मिजोरम पुलिस ने असम सीएम हिमंत…