अफगानिस्तान में जुमे की नमाज के दौरान हुए ब्लास्ट की IS- खुरासान ने ली जिम्मेदारी

131 0

नई दिल्ली। अफगानिस्तान के कुंदुज में शुक्रवार को एक मस्जिद में नमाज के दौरान ब्लास्ट हुआ था। इस ब्लास्ट की जिम्मेदारी IS- खुरासान ने ले ली है। इस हादसे में 100 लोगों की मौत हो गई थी, और कई लोग घायल हुए थे।

जानकारी के मुताबिक, ये धमाका हजारा शिया मस्जिद को निशाना बनाकर किया गया था। अफगानिस्तान में तालिबान की सरकार बनने के बाद यह देश में सबसे बड़ा हमला है।

कुंदुज प्रांत के तालिबान के उप पुलिस प्रमुख ने कहा कि शुक्रवार का हमला एक आत्मघाती हमलावर द्वारा किया गया हो सकता है। उन्होंने कहा, मैं अपने शिया भाइयों को आश्वस्त करता हूं कि तालिबान उनकी सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए तैयार है।

3 अक्टूबर को मस्जिद के बाहर हुआ विस्फोट 

गौरतलब है कि इससे पहले भी 3 अक्टूबर को काबुल में एक मस्जिद के बाहर घातक विस्फोट हुआ था, जिसमें कई लोगों की जान चली गई थी। तालिबान के प्रवक्ता जबीउल्लाह मुजाहिद ने ब्लास्ट की पुष्टि की थी। उन्होंने ट्विटर पर लिखा था कि मस्जिद के एंट्री गेट के बाहर यह धमाका हुआ। उन्होंने बताया कि मुजाहिद की मां के लिए एक प्रार्थना सभा रखी गई थी, मुजाहिद की मां का निधन पिछले सप्ताह हुआ था।

26 अगस्त को काबुल एयरपोर्ट पर धमाका 

बता दें कि आईएसआईएस-के ने 26 अगस्त को काबुल में हामिद करजई अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के बाहर आत्मघाती हमला किया था। काबुल हवाईअड्डे पर रेस्क्यू ऑपरेशन के दौरान हुए इस हमले में 169 से अधिक लोग मारे गए थे, जिनमें 13 अमेरिकी सैनिक भी शामिल थे।

इस्लामिक स्टेट खुरासान (ISIS-K) ने दावा किया था कि पिछले महीने काबुल एयरपोर्ट पर हमला करने वाला आत्मघाती हमलावर पांच साल पहले दिल्ली में पकड़ा गया था।

Related Post

नवरात्रि साधना

कोरोनावायरस से लड़ने में मजबूत रणनीति बनाएं सार्क देश : पीएम मोदी

Posted by - March 13, 2020 0
नई दिल्ली। भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कोरोना वायरस को वैश्विक समस्या करार दिया है। इसके साथ ही सार्क…
कोरोनावायरस से जूझ रहा अमेरिका

US: कल होगा राष्ट्रपति पद के लिए मतदान, जानें इससे जुड़ीं जरूरी बातें

Posted by - November 2, 2020 0
अंतर्राष्ट्रीय डेस्क.   कल 3 नवम्बर को अमेरिका में 45वें राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव लड़ा जाएगा जिसपर दुनिया भर की निगाहें…