पहली बार अंतरिक्ष मिशन की डोर महिलाओं के कंधों पर, सफलता से मात्र एक कदम दूर

404 0

नई दिल्ली।  चंद्रयान- 2 मिशन लगातार अपने लक्ष्य की ओर है अब सफलता से मात्र एक कदम दूर है मून मिशन चंद्रयान-2 को नेतृत्व दो महिला वैज्ञानिक कर रही हैं। चंद्रयान-2 को संभव करने वाले स्टाफ में 30 प्रतिशत महिलाएं हैं। ऐसा पहली बार हुआ कि अंतरिक्ष मिशन की डोर महिलाओं के हाथ में दी गयी है।

ये भी पढ़ें :-दिन-दूनी रात चौगनी मेहत कर अपने विरोधियों को इस महिला ने चटाई धूल

आपको बता दें चंद्रयान-2 दुनिया का पहला ऐसा मिशन बन जाएगा जो चांद की दक्षिणी सतह पर उतरेगा। इनमें वनिथा मुथैया प्रोजेक्ट डायरेक्टर के तौर काम कर रही हैं तो वहीं रितु करिढाल मिशन डायरेक्टर हैं। दोनों को 20 वर्ष से अधिक का अनुभव है।

ये भी पढ़ें :-रेलवे स्टेशन पर गाना गाने वाली महिला रानू मंडल इस अभिनेता के घर करती थी साफ-सफाई

जानकारी के मुताबिक  इससे पहले 2008 में चंद्रयान-1 और 2013 में मार्स ऑर्बिटर मिशन को अंजाम दिया गया था। यह भारत का तीसरा मिशन है। जियोसिंक्रोनस लॉन्च व्हीकल मार्क 3 भारत में अब तक बना सबसे शक्तिशाली रॉकेट है। इसी से चंद्रयान-2 को चंद्रमा की कक्षा में लॉन्च किया गया था।

Loading...
loading...

Related Post

गंगा दशहरा

गंगा दशहरा : जानें गंगा नदी को क्यूं कहा जाता है हिंदुस्तान की जीवन रेखा

Posted by - June 1, 2020 0
नई दिल्ली। सोमवार को पूरे देश में गंगा दशहरा श्रद्धापूर्वक मनाया गया। गंगा नदी को हिंदुस्तान की जीवन रेखा कहा…
झारखंड चुनाव

झारखंड चुनाव : मोदी बोले- नागरिकता संशोधन कानून का फैसला हजार फीसदी सच्चा

Posted by - December 15, 2019 0
दुमका। झारखंड विधानसभा चुनाव में रविवार को प्रचार करने पहुंचे पीएम मोदी कांग्रेस और उसके सहयोगियों पर जमकर बरसे। उन्होंने…
कोरोना संकट

कोरोना संकट के समय लोकतांत्रिक मान्यताओं को तिलांजलि देने पर तुली भाजपा : अखिलेश

Posted by - April 6, 2020 0
लखनऊ। समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने आरोप लगाया कि कोरोना संकट के दौर में भी भारतीय जनता पार्टी…