Nobel Prize in Chemistry

इमैनुअल शार्पेंची और जेनफिर डाउडना को मिला केमिस्ट्री का नोबेल पुरस्कार

821 0

नई दिल्ली। रॉयल स्वीडिश एकेडमी ऑफ साइंसेज ने साल 2020 का रसायन (केमिस्ट्री) विज्ञान के नोबेल पुरस्कार (Nobel Prize in Chemistry)  की घोषणा बुधवार को कर दी । इस साल इमैनुअल शार्पेंची और जेनफिर डाउडना को यह पुरस्कार जीनोम एडिटिंग का तरीका खोजने के लिए दिया गया है। इन पुरस्कारों की घोषणा स्वीडिश अकेडमी ऑफ साइंसेज पैनल ने की है।

बता दें कि इस पुरस्कार के जरिए अकसर उन कार्यों को सम्मानित किया जाता है, जिनका आज व्यवहारिक रूप से विस्तृत उपयोग हो रहा है। इसी तरह पिछले साल लिथियम-आयन बैटरी बनाने वाले वैज्ञानिकों को नोबेल पुरस्कार से नवाजा गया था।

नोबेल पुरस्कार के तहत स्वर्ण पदक, एक करोड़ स्वीडिश क्रोना (तकरीबन 8.20 करोड़ रूपये) की राशि दी जाती है। स्वीडिश क्रोना स्वीडन की मुद्रा है। यह पुरस्कार स्वीडन के वैज्ञानिक अल्फ्रेड नोबेल के नाम पर दिया जाता है।

सुशांत सिंह राजपूत के बहनें पहुंची बंबई हाईकोर्ट, कोर्ट से किया ये अनुरोध

ब्लैक होल संबंधी खोज के लिए तीन वैज्ञानिकों को इस साल का भौतिकी का नोबेल पुरस्कार मिला है। रॉयल स्वीडिश एकेडमी ऑफ साइंसेज ने मंगलवार को कहा कि ब्रिटेन के रोजर पेनरोसे को ब्लैकहोल संबंधी खोज के लिए तथा जर्मनी के रीनहार्ड गेंजेल और अमेरिका की एंड्रिया गेज को हमारी आकाशगंगा के केंद्र में ‘सुपरमैसिव कॉम्पैक्ट ऑबजेक्ट’ की खोज के लिए यह प्रतिष्ठित पुरस्कार मिला है।

नोबेल पुरस्कार समिति ने सोमवार को शरीर विज्ञान एवं औषधि क्षेत्र का नोबेल पुरस्कार अमेरिकी वैज्ञानिकों- हार्वे जे आल्टर और चार्ल्स एम राइस तथा ब्रिटेन में जन्मे वैज्ञानिक माइकल हफटन को देने की घोषणा की थी। इसके अलावा साहित्य, शांति और अर्थशास्त्र जैसे क्षेत्रों में सराहनीय कार्य के लिए नोबेल पुरस्कार दिया जाता है।

Related Post

पहली बार ये महिलाएं एक साथ मिलकर अंतरिक्ष में करेंगी चहलकदमी

Posted by - October 6, 2019 0
वर्ल्ड डेस्क। इतिहास में ऐसा पहली बार होगा जब दो महिला एस्ट्रोनॉट्स एकसाथ अंतरराष्ट्रीय स्पेस स्टेशन (ISS) के बाहर स्पेसवॉक…