IPO

किसी भी IPO में निवेश करने से पहले ना करें यह 3 गलतियां

136 0

LIC IPO : भारत ने आईपीओ(IPO) में रिटेल इंवेस्टर्स की भागीदारी में भारी वृद्धि देखी है। देश का सबसे बड़ा आईपीओ(IPO) एलआईसी आईपीओ 4 मई को खुलने के साथ, रिटेल इंवेस्टर्स के बीच सेंटीमेंट काफी हाई देखने को मिल रही है। करीब 20,557 करोड़ रुपए के साथ एलआईसी का आईपीओ देश का सबसे बड़ा आईपीओ बनने जा रहा है। अब तक, 2021 में पेटीएम के आईपीओ से जुटाई गई राशि 18,300 करोड़ रुपए में अब तक की सबसे बड़ी राशि थी। प्रवीण इक्विटीज लिमिटेड के संस्थापक और निदेशक मनोज डालमिया की ओर से दी गई जानकारी के अनुसार आईपीओ(IPO) में निवेश करते हुए किस तरह की गलतियों से बचना चाहिए।

मोबाइल चार्ज करते समय इन बातों का रखें खास ध्यान

1) वैल्यूएशन

रिटेल इंवेस्टर्स अक्सर वैल्यूएशन को नजरअंदाज कर देते हैं और आवेदन करते समय समाचार या सिफारिश के अनुसार जाते हैं। चाहे आईपीओ(IPO) हो या निवेश करना हो, कंपनी के लिए बिजनेस मॉडल, टॉपलाइन, बॉटम लाइन और स्थिरता के संदर्भ में एक साधारण पृष्ठभूमि की जांच होनी चाहिए। कुछ कंपनियों को अत्यधिक मूल्यवान माना जा सकता है, भले ही यह एक बिक्री के लिए प्रस्ताव है, जहां मकसद केवल शेयरधारकों के शेयरों को बेचना है।

 

2) क्विक गेन

आईपीओ(IPO) ने हाल ही में क्विक गेन अर्जित किया है जिसने कई निवेशकों को उत्सुक बना दिया है और उन्हें प्रत्येक आईपीओ में निवेश करने के लिए प्रेरित किया है। इस दृष्टिकोण से बचा जाना चाहिए, जब प्रवृत्ति तेज होती है तो आईपीओ अच्छे लाभ के साथ सूचीबद्ध हो सकता है लेकिन लंबी अवधि में जीवित नहीं रह सकता है। उसी भावना ने लोगों को पेटीएम में निवेश करने के लिए प्रेरित किया जिसके लिए उन्हें भारी नुकसान हुआ।

 

3) इंफोर्मेशनसूचना

आईपीओ(IPO) में आमतौर पर उनके डीआरएचपी को छोड़कर ज्यादा जानकारी नहीं होती है, लोगों को कंपनी की पृष्ठभूमि और आईपीओ के उद्देश्यों की स्पष्ट समझ के साथ आईपीओ में निवेश करना चाहिए। कई निवेशक जानकारी को नजऱअंदाज़ कर देते हैं और केवल सुझावों पर चलते हैं। आमतौर पर, कई दलालों द्वारा प्रदान की गई जानकारी सकारात्मक होती है यदि कंपनी एक ब्रांड है, तो ऐसे मामले हो सकते हैं जहां नकारात्मक छिपे हों, इस प्रकार जानकारी की स्पष्ट समझ होना बहुत महत्वपूर्ण है।

Bank Holiday की लिस्ट जारी, मई के पहले सप्ताह में 3 दिन बंद रहेंगे बैंक

एलआईसी आईपीओ(IPO) प्राइस बैंड

एलआईसी आईपीओ के लिए 902 रुपए से 949 रुपए प्रति इक्विटी शेयर का प्राइस बैंड तय किया है। इश्यू 4 मई को खुलेगा और 9 मई को बंद होगा। शेयरों के 17 मई को सूचीबद्ध होने की संभावना है। पॉलिसीधारकों को प्रति इक्विटी शेयर पर 60 रुपए की छूट मिलेगी, जबकि खुदरा निवेशकों और पात्र कर्मचारियों को 45 रुपए की छूट मिलेगी।

Related Post

जियो प्लेटफॉर्म्स

जियो प्लेटफॉर्म्स में 11वें निवेश का ऐलान, सऊदी अरब की PIF खरीदेगी 2.32 फीसदी हिस्सेदारी

Posted by - June 18, 2020 0
मुंबई। रिलायंस इंडस्ट्रीज (RIL) ने गुरुवार को जियो प्लेटफॉर्म्स में 11वें निवेश का ऐलान किया है। बीते 9 सप्ताह में…

PNB समेत इन चार बैंकों पर RBI ने लगाया इतने करोड़ रुपये का जुर्माना

Posted by - July 3, 2019 0
मुंबई। भारतीय रिजर्व बैंक ने पंजाब नेशनल बैंक और यूको बैंक सहित सार्वजनिक क्षेत्र के चार बैंकों पर केवाईसी जरूरतों…

LIC के निजीकरण को मोदी सरकार ने दिखाई हरी झंडी, पैसा जुटाना सरकार का लक्ष्य

Posted by - July 13, 2021 0
कोरोना संकट और खराब अर्थव्यवस्था के बीच मोदी सरकार ने देश की सबसे बड़ी बीमा कंपनी एलआईसी के विनिवेश को…