सेना को रोजगार देने वाली संस्था नहीं,अपने दिमाग से गलतफहमी निकाल दें-बिपिन रावत

567 0

पुणे।जो लोग सेना में भर्ती होने को रोज़गार का एक साधन मात्र समझते हैं उनके लिए सेना प्रमुख बिपिन रावत ने हिदायत देते हुए कहा है कि ऐसे लोगो को इस सोच से बाहर निकलने की जरूरत है। सेना में शामिल होने के लिए उनको शारीरिक और मानसिक दोनों तौर पर मजबूत होना चाहिए। रावत ने उन सैनिकों के चेतावनी भी दी जो कर्तव्य से बचने या फायदा पाने के लिए बीमारी या शारीरिक लाचारी की आड़ लेते हैं।

साथ ही रावत ने ये भी भरोसा दिलाया कि जो पूर्व और वर्तमान सैनिकों ने ड्यूटी के दौरान अपना कोई अंग गंवाया, उनकी पूरी मदद की जाएगी। रावत ने चेतावनी देते हुए कहा- सेना को रोजगार देने वाली संस्था नहीं है। अपने दिमाग से यह गलतफहमी निकाल दें। अगर आप आर्मी ज्वाइन करते हैं तो आपको शारीरिक और मानसिक रूप से चुस्त-दुरुस्त होना चाहिए। हमेशा कठिन हालात का सामना करने के लिए तैयार रहना चाहिए। सेना प्रमुख ने ये भी कहा कि कई लोग मेरे पास आते हैं और सेना में नौकरी लगाने की बात कहते हैं। मैं उनसे कहता हूं कि भारतीय सेना नौकरी का साधन नहीं है। नौकरी लेनी है तो रेलवे में जाएं या अपना बिजनेस खोल लीजिए।

बता दें कि रावत पुणे के एक समारोह में दक्षिणी, दक्षिणी-पश्चिमी और मध्य कमांड के वर्तमान और सेवानिवृत 600 दिव्यांग सैनिकों के बीच बोल रहे थे। आर्मी ने 2018 को ‘ड्यूटी के दौरान दिव्यांग हुए सैनिकों का वर्ष’ घोषित किया है। इसके बाद रावत ने कहा- मैं कई ऐसे सैनिकों और अफसरों को जानता हूं जो खुद को हाई ब्लड प्रेशर, हाइपरटेंशन, डाइबिटीज से पीड़ित बताते हैं और चुनौती वाली पोस्टों पर नियुक्ति से राहत चाहते हैं। ये लोग दरअसल शारीरिक-मानसिक रूप से कमजोर होते हैं और तनाव झेल नहीं पाते। अगर वास्तव में अक्षम सैनिक जबर्दस्त प्रदर्शन कर सकता है तो उन्हें शर्म आनी चाहिए।

आर्मी चीफ ने कहा- सैनिक और अफसर जिन मुश्किल हालात में काम करते हैं, इस बात को हम बखूबी जानते हैं। जो डॉक्टर आपको मेडिकल सहायता देते हैं, वे भी यह जानते हैं कि जब वे सही और गलत का निर्णय लेते हैं, तो कुछ लोग अदालत में जाते हैं। अदालत के फैसले के बाद सैनिक गर्व से कहते हैं कि उन्हें अक्षमता पेंशन मिली।रावत ने ये भी कहा कि भारतीय सेना आपकी मदद करने के लिए प्रतिबद्ध है। अगर आपको किसी भी तरह की तकलीफ है तो इसके लिए आप अपनी यूनिट को पत्र लिख सकते हैं। अगर आपको कोई मदद नहीं मिलती तो इसके लिए आर्मी द्वारा नियुक्त अफसर को मैसेज करें। मैं भरोसा दिलाता हूं कि आपको एक महीने में जवाब मिल जाएगा।

Related Post

Mumbai Corona

महाराष्ट्र में कोरोना से हालात बेकाबू, सरकार का नाइट कर्फ्यू, वीकेंड लॉकडाउन का ऐलान

Posted by - April 4, 2021 0
मुंबई। महाराष्ट्र में कोरोनावायरस (Coronavirus) के नए मामलों में उछाल के बीच राज्य सरकार ने अहम फैसला लिया है। मुख्यमंत्री…
अमेरिकी दावे को झुठलाया

पाकिस्तायनी F-16 पर अमेरिकी दावे को रक्षामंत्री ने झुठलाया, कहा- विदेश नीति के पत्रकार करें जांच

Posted by - April 7, 2019 0
नई दिल्ली।  एफ 16 विमान पूरे होने वाली अमेरिका की रिपोर्ट पर रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने बयान दिया है।…
हेलो पे मिलो

सोशल मीडिया प्लेटफार्म हेलो का नया ब्रांड अभियान ‘हेलो पे मिलो’ लांच

Posted by - March 13, 2020 0
नई दिल्ली। देश के प्रमुख क्षेत्रीय सोशल मीडिया प्लेटफार्म हेलो ने विभिन्न भाषाई पृष्ठभूमि वाले लोगों को प्रेरित करने के मकसद…