Bank

बैंक ऑफ़ बड़ौदा ने आजादी का अमृत महोत्सव-आइकॉनिक वीक मनाया

110 0

लखनऊ: भारत के अग्रणी सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों में से एक, बैंक ऑफ़ बड़ौदा (Bank Of Baroda) (बैंक) ने आज घोषणा करते हुए कहा कि बैंक (Bank) ने वित्तीय सेवाएं विभाग, वित्त मंत्रालय के समन्वय में ‘आजादी का अमृत महोत्सव – आइकॉनिक वीक’ (Iconic Week) मनाया। भारत की स्वतंत्रता के 75 वर्ष पूरे होने के उपलक्ष्य में बैंक ने देश में चुनिंदा 75 शाखाओं में आउटरीच कार्यक्रमों की एक श्रृंखला का आयोजन किया।

आजादी का अमृत महोत्सव- आइकॉनिक वीक समारोह विज्ञान भवन, नई दिल्ली में प्रधानमंत्री के संबोधन के साथ शुरू हुआ। बैंक ऑफ़ बड़ौदा ने कर्मचारियों, ग्राहकों और आम जनता के बीच कार्यक्रम के सीधा प्रसारण के लिए विभिन्न शहरों में व्यवस्था की।

आइकॉनिक वीक के दौरान, बैंक ने 75 शाखाओं में विभिन्न आउटरीच गतिविधियों का आयोजन किया जो ग्राहकों को डिजिटल बैंकिंग के बारे में शिक्षित करने के साथ-साथ साइबर धोखाधड़ी और सुरक्षित बैंकिंग के बारे में जागरूकता बढ़ाने पर केंद्रित रहीं। वित्तीय समावेशन को बढ़ावा देने के लिए बैंक ने एसएलबीसी के संयोजन वाले राज्यों यानी राजस्थान, उत्तर प्रदेश और गुजरात में व्यापक जिला स्तरीय क्रेडिट आउटरीच कार्यक्रम भी आयोजित किए, जिसमें ग्राहकों को उपलब्ध विभिन्न ऋण सुविधाओं, विभिन्न सरकारी योजनाओं में लाभार्थियों का नामांकन, लाभार्थियों को स्वीकृति पत्र सौंपने आदि के बारे में जानकारी दी गई।

कोटा में नीट परीक्षा की तैयारी कर रही छात्रा का शव जंगल में मिला

इस अवसर पर बोलते हुए बैंक ऑफ़ बड़ौदा के प्रबंध निदेशक और सीईओ श्री संजीव चड्ढा ने कहा, “भारत आज दुनिया में सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्थाओं में से एक के रूप में एक महत्वपूर्ण स्थिति में है। पिछले 75 वर्षों में देश ने उल्लेखनीय प्रगति की है. यदि हम भविष्य की ओर देखते हैं, आजादी का अमृत महोत्सव एक ऐसी पहल है जो न केवल देश ने अब तक जो हासिल किया है उसे मनाने का अवसर है, बल्कि यह हमें कल के भारत के निर्माण में भी सहायक है।

एक मजबूत भारत के लिए एक मजबूत वित्तीय क्षेत्र की जरूरत है और बैंक ऑफ़ बड़ौदा देश की विकास यात्रा में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने के लिए उत्साहित है। इस अवसर पर बैंक ने देश भर में 10,000 पौधे भी लगाए।

ब्रेस्ट कैंसर से जूझ रही हैं महिमा चौधरी, बीमारी से बदल गया लुक

Related Post

Prof. Vinay Kumar Pathak

‘वन कंट्री वन डाटा’ पर भी कार्य करने की आवश्यकता: प्रो. विनय कुमार पाठक

Posted by - February 17, 2021 0
लखनऊ। डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम प्राविधिक विश्वविद्यालय में बुधवार को भारत की उच्च तकनीकी शिक्षा प्रणाली हेतु अभिनव और प्रगतिशील…