उत्तर रेलवे लखनऊ मंडल

पुरस्कार घोटाला : उत्तर रेलवे लखनऊ मंडल में चाटुकारों की बल्ले-बल्ले

362 0

लखनऊ । उत्तर रेलवे लखनऊ मंडल का 64 वां वार्षिक रेल सप्ताह पुरस्कार वितरण कार्यक्रम शुक्रवार 12 अप्रैल को आयोजित किया जाएगा। पुरस्कारों की सूची में इंजीनियरिंग विभाग के कुछ चाटुकार कर्मचारियों के नाम घोषित हुआ है, जो रेलवे लखनऊ मंडल की पुरस्कार चयन समिति पर सवालिया निशान खड़ा कर रहा है।

उत्तर रेलवे लखनऊ मंडल ने पुरस्कार प्राप्त करने वालों की सूची पर सवालिया निशान ?

बता दें कि मंडल रेल प्रबंधक शुक्रवार को 64 वां वार्षिक रेल सप्ताह पुरस्कार के लिए चयनित कर्मचारियों को पुरस्कृत करेंगे। उत्तर रेलवे लखनऊ मंडल ने पुरस्कार प्राप्त करने वालों का जो सूची जारी की है। उस सूची में क्रमांक संख्या 34 पर राहुल दुबे का नाम है जो एस एस ई/पिवे -2 लखनऊ में एलाइनर के पद पर 2400 ग्रेड पर कार्यरत हैं, सबसे आश्चर्य की बात यह है कि इन्होंने कभी भी अपना मूल कार्य नहीं किया है। ये वर्तमान में वरिष्ठ मंडल अभियंता समन्वय के कार्यालय में बाहर से आए कर्मचारियों को उनसे मिलवाने का काम करते हैं। ऐसे में सवा​ल उठता है कि आखिर किस आधार पर चयन समिति ने एस एस इ पिवे-2 शरद श्रीवास्तव द्वारा इनका नाम भेजा है। एडीइएन-1 लखनऊ भी इनके नाम पर ध्यान नहीं दिए।

ये भी पढ़ें :-सतीश मिश्रा पहुंचे चुनाव आयोग, कहा- पुलिस ने बीएसपी समर्थकों को वोट डालने से रोका

कार्यालय में काम करने वाले को किया जाएगा पुरस्कृत, पसीना बहाने वाले सूची से बाहर

इतना ही नहीं इसी सूची में क्रमांक संख्या 52 पर बिन्द्रा प्रसाद का नाम है जो एस एस इ/कार्य लखनऊ के कार्यालय में काम करते हैं और एनआरएमयू के कार्य शाखा के शाखा मंत्री हैं। अब सोंचने वाली बात है कि जो कर्मचारी अपने मूल कार्य में पसीना बहाते हैं। सबसे आश्चर्य की बात है कि उनको पुरस्कार न देकर कार्यालय में काम करने वाले को पुरस्कृत किया जाएगा। ऐसे में सवाल उठाता है कि साइड पर काम करने वाले कर्मचारियों के मनोबल पर बहुत बुरा प्रभाव पड़ेगा। ऐसे कर्मचारियों को उनके मूल काम पर लगाना चाहिए?

रेलवे बोर्ड अध्यक्ष विनोद कुमार यादव द्वारा क्या निर्माण लिया जाता है?

अब देखने वाली बात है कि रेलवे बोर्ड अध्यक्ष विनोद कुमार यादव द्वारा क्या निर्माण लिया जाता है? कार्यालय में काम करने वाले कर्मचारियों को पुरस्कार दिया जाएगा या नहीं?

Loading...
loading...

Related Post

गीता गोपीनाथ

IMF की रिपोर्ट के बाद चर्चा में गीता गोपीनाथ, जानें हैं कौन?

Posted by - January 21, 2020 0
नई दिल्ली। अतंरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) की मुख्य अर्थशास्त्री गीता गोपीनाथ एक फिर सुर्खियों में छाई हैं। IMF ने भारतीय…
अखिलेश यादव

अब देश को लाइन में लगाने की जा रही है फिर से साजिश: अखिलेश यादव

Posted by - December 24, 2019 0
लखनऊ। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने केन्द्र सरकार पर हमलावर रुख अख्तियार किए हुए…