आतंक का सफाया

कश्मीर मुद्दे पर बोले आर्मी चीफ-“आतंकवाद और बातचीत एकसाथ नहीं हो सकती”

518 0

नई दिल्ली। कश्मीर का मुद्दा सालों पुराना है और इसको लेकर आये दिन बयानबाज़ी भी होती रहती है। पाकिस्तान ज़ुबान से तो दोस्ती की बात करता है लेकिन ज़मीनी हकीकत कुछ और ही है। इसी को लेकर आर्मी चीफ जनरल बिपिन रावत ने साफ कर दिया है कि आतंकवाद और बातचीत एकसाथ नहीं हो सकती।उन्होंने कहा कि पाकिस्तान एक मुस्लिम देश बन चुका है। अगर उसे भारत के साथ अच्छे रिश्ते बनाने हैं तो धर्मनिरपेक्ष बनना होगा। उन्होंने कहा कि भारत धर्मनिरपेक्ष देश है और अगर उनकी (पाक) इच्छा हमारे जैसा बनने की है तो उन्हें संभावना तलाशनी चाहिए।

गौरतलब है कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने करतारपुर कॉरिडोर के शिलान्यास के मौके पर भारत के साथ दोस्ती पर जोर दिया था। उन्होंने कहा था कि भारत और पाकिस्तान के बीच सिर्फ एक ही मसला है वो है कश्मीर। लोग चांद पर पहुंच गए हैं लेकिन हम वहीं अटके हैं। इमरान ने कहा था कि मैं फिर से कहना चाहता हूं कि भारत दोस्ती के लिए एक कदम बढ़ाए, हम दो बढ़ाएंगे।

इसपर आर्मी चीफ ने कहा कि पाकिस्तान कह रहा है कि भारत एक कदम आगे बढ़े, हम दो बढ़ाएंगे। इसमें एक अंतर्विरोध है। उनकी तरफ से एक कदम सकारात्मक दिशा में होना चाहिए, इसका असर भी धरातल पर दिखना चाहिए। इसके बाद ही बातचीत आगे बढ़ सकती है। हमारे देश की रणनीति साफ है कि आतंकवाद और बातचीत एक साथ नहीं चल सकते।

सभी जानते है की पाकिस्तान बयानों में दोस्ती का हाँथ बढ़ने की बात कहता है और उसके उलट घुसपैठी करने से बाज़ नहीं आता है।

Related Post

अनिल देशमुख की जांच मे महाराष्ट्र सरकार पर सहयोग न करने का आरोप

Posted by - August 5, 2021 0
महाराष्ट्र के चर्चित मनी लॉन्ड्रिंग मामले में सीबीआई ने महाराष्ट्र सरकार पर जांच में सहयोग नहीं करने का आरोप लगाया…
आनंदी बेन पटेल ने कहा चुनौतियों से ही जूझकर मिलती है सफलता

आनंदी बेन पटेल ने कहा चुनौतियों से ही जूझकर मिलती है सफलता

Posted by - March 6, 2021 0
विद्यार्थी सर्वगुण सम्पन्न जनशक्ति बनकर प्रदेश और देश के लिये महत्वपूर्ण योगदान करें। जीवन में विद्यार्थी का लक्ष्य स्पष्ट होना…