KKR

KKR की बाजीगरी: हारकर भी जीते दिल, कमिंस-रसेल ने तहस-नहस किए कई रिकॉर्ड्स

139 0

नई दिल्ली। वानखेड़े स्टेडियम में बुधवार रात चेन्नई सुपरकिंग्स(Chennai Super Kings)  ने कोलकाता नाइटराइडर्स (KKR)  पर रोमांचक जीत दर्ज की। सीएसके द्वारा टॉस गंवाकर खड़े किए गए 219 रन के विशाल स्कोर के जवाब में केकेआर 19.1 ओवर में 202 रन पर ऑल आउट हो गई। भले ही मुकाबले में कोलकाता 18 रन पीछे रह गई, लेकिन आईपीएल का इतिहास बदलने में कामयाब रही।

1. लक्ष्य का पीछा करने उतरी कोलकाता की टीम ने 31 रनों पर 5 विकेट के नुकसान के बाद 171 रन बनाए। यह आईपीएल में किसी भी टीम के द्वारा 5 विकेटों के गिरने के बाद सबसे ज्यादा रन हैं। इससे पहले यह रिकॉर्ड रॉयल चैलंजर्स बैंगलोर के नाम था, जिन्होंने साल 2016 में गुजरात लॉयंस के खिलाफ 159 रनों का पीछा करते हुए 29 रन पर पांच विकेट गंवाने के बाद 130 रन बनाए थे।

2. कोलकाता की टीम द्वारा 5 विकेटों के नुकसान के बाद बनाए गए 171 रन टी-20 इतिहास में दूसरे सबसे ज्यादा रन है। इसमें सबसे ज्यादा रन बनाने का रिकॉर्ड जमैका तलावाज के नाम है। जमैका की टीम ने सीपीएल में साल 2018 में त्रिनबागो नाइटराइडर्स के खिलाफ 224 रनों का पीछा करते हुए 41 रनों पर पांच विकेट गंवा दिए थे। पांच विकेट खोने के बाद टीम ने 184 रन बनाए थे। इस मुकाबले में जमैका की ओर से आंद्रे रसेल ने 49 गेंदों पर 121 रनों की धमाकेदार पारी खेली थी।

3. केकेआर की ओर से नंबर आठ पर बल्लेबाजी करने उतरे पैट कमिंस ने 66 रनों की पारी खेली। आईपीएल इतिहास में नंबर आठ या उससे नीचे बल्लेबाजी करने उतरे किसी भी टीम के बल्लेबाज का यह सर्वाधिक स्कोर है, इससे पहले हरभजन सिंह ने साल 2015 में किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ आठवें नंबर पर बल्लेबाजी करते हुए 64 रनों की पारी खेली थी।

4. आईपीएल में यह पहली बार हुआ कि किसी टीम की ओर से नंबर सात और नंबर आठ पर बल्लेबाजी करते हुए दोनों खिलाड़ियों ने पचास रन ठोके। कोलकाता की ओर से रसेल और कमिंस ने क्रमश: 54 और 66 रन की धमाकेदार पारियां खेली। टी-20 इतिहास में कोलकाता दूसरी ऐसी टीम बनी। इससे पहले यह रिकॉर्ड 2012-13 में सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी के दौरान हरियाणा के खिलाफ जम्मू कश्मीर की ओर से देखने को मिला था।

5. इसके साथ ही टी-20 इतिहास में कोलकाता ऐसी पहली टीम बनी, जिसके आठ बल्लेबाज इकाई के स्कोर पर आउट हुए फिर स्कोर 200 से ज्यादा रन बन गया, इससे पहले यह रिकॉर्ड ऑस्ट्रेलियाई टीम के नाम था, जिन्होंने 2014 टी-20 वर्ल्ड कप में पाकिस्तान के खिलाफ 8 या उससे ज्यादा बल्लेबाजों के सिंगल डिजिट स्कोर पर आउट होने के बाद 175 रन बनाए थे। साथ ही कोलकाता पहली ऐसी टीम बनी जिसके चार बल्लेबाज शून्य पर आउट हुए पर टीम ने 200 से ज्यादा रन बनाए।
6. एक ओर चेन्रई की ओर से खेलते हुए दीपक चाहर पहले ऐसे गेंदबाज बने, जिन्होंने पहले छह ओवर में ही चार विकेट अपने नाम कर लिए। पहली बार चेन्नई की टीम ने पहले छह ओवरों में पांच विकेट चटकाए। वहीं दूसरी ओर सैम करन ने अपने 4 ओवरों में 58 रन लुटाए। चेन्नई के किसी भी गेंदबाज द्वारा यह सर्वाधिक है। इससे पहले साल 2015 में हैदराबाद के खिलाफ मोहित शर्मा ने भी 58 रन लुटाए थे। सैम ने अपने तीसरे ओवर में 30 रन दिए। इससे पहले लुंगी एनगिडी ने भी पिछले साल राजस्थान के खिलाफ एक ही ओवर में 30 रन लुटाए थे।

Related Post

आरसीबी,

IPL 2019 से बाहर होने वाली पहली टीम बनी आरसीबी, बैंगलोर के खिलाफ रद्द मैच

Posted by - May 1, 2019 0
बेंगलुरु। राजस्थान रॉयल्स और रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के बीच हुआ मैच बारिश के चलते रद्द हो गया। वहीँ विराट कोहली…
निशानेबाजी विश्व कप रद्द

कोविड-19 प्रकोप के कारण, दिल्ली में होने वाला निशानेबाजी विश्व कप रद्द

Posted by - April 6, 2020 0
नई दिल्ली। राजधानी दिल्ली की डॉ. कर्णी सिंह शूटिंग रेज में मई में होने वाले आईएसएसएफ निशानेबाजी विश्व कप को…