पति से तलाक के बाद इस महिला ने अकेले दम पर की दो बेटियों की अच्छे से परवरिश

798 0

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री मुफ्ती मोहम्मद सईद की बेटी हैं। लंबी बीमारी के चलते 2016 में उनके पिता का निधन हो गया था। पिता के देहांत के बदा महबूबा जम्मू और कश्मीर की मुख्यमंत्री बनी थीं। 1984 में महबूबा ने जावेद इकबाल से निकाह किया। इनकी दो बेटियां हुईं। बड़ी बेटी का नाम इल्तिजा जावेद और छोटी बेटी का नाम इर्तिका रखा गया।

ये भी पढ़ें :-पहली बार अंतरिक्ष मिशन की डोर महिलाओं के कंधों पर, सफलता से मात्र एक कदम दूर 

आपको बता दें 1987 में महबूबा का जावेद इकबाल से रिश्ता टूट गया। जावेद ने इसके लिए महबूबा को जिम्‍मेदारी ठहराया था। खैर तलाक के बाद दोनों बेटियों की परवरिश का सारा जिम्मा महबूबा मुफ्ती पर आ गया। उन्होंने अकेले दम पर बेटियों की बहुत अच्छे से परवरिश की। महबूबा मुफ्ती के करीबी बताते हैं कि उन्होंने अपनी बेटियों को अपना भविष्य तय करने की पूरी आजादी दी। बल्कि बेटियों ने जो करना चाहा, मां महबूबा ने उनकी आगे बढ़कर मदद की और उन्हें मजबूत बनाया।

ये भी पढ़ें :-सन्यास लेने  के बाद वनडे विश्व कप जीतना इस महिला का सपना 

जानकारी के मुताबिक महबूबा से तलाक के बाद जावेद के मन में अपनी पूर्व पत्नी और उनके पिता के खिलाफ कड़वाहट पैदा हो गई थी। जावेद को राजनीति से परहेज था, लेकिन महबूबा और मुफ्ती मोहम्मद सईद को सबक सिखाने के लिए उन्होंने सियासत का दामन थाम लिया। जावेद को इस बात की भी खुन्नस थी कि महबूबा दोनों बेटियों को उनसे मिलने नहीं देती थीं। जावेद इस ताक में लग गए कि कैसे अपने पूर्व ससुर को सियासी नुकसान पहुंचाएं। 1996 में जावेद को यह मौका मिल गया। जावेद ने पहली बार राष्ट्रीय स्तर पर अपने ससुर का पुरजोर विरोध किया।

Related Post

लॉकडाउन

लॉकडाउन से शहरों में सब्जियों के दामों में उछाल, तो ग्रामीण क्षेत्रों में औंधे मुंह गिरे दाम

Posted by - March 24, 2020 0
लखनऊ। कोरोना संक्रमण के बढ़ने पर उत्तर प्रदेश के 19 जिलों को लॉकडाउन किया गया है। इसका प्रतिकूल असर फल,फूल…
युवती ने दृढ़ इच्छाशक्ति से कोरोना का हराया

मुरादाबाद : फ्रांस से भारत लौटी युवती ने अपनी दृढ़ इच्छाशक्ति से कोरोना का हराया

Posted by - March 29, 2020 0
नई दिल्ली। अगर हमारे अंदर जीने का हौंसला और दृढ़ इच्छाशक्ति हो, तो हम किसी भी जानलेवा बीमारी को आसानी…