Pawan Hans

Air India के बाद अब ये कंपनी होगी प्राइवेट, इतने की लगी बोली

137 0

नई दिल्ली। हेलिकॉप्टर सर्विस प्रोवाइड करने वाली सरकारी कंपनी Pawan Hans अब बहुत जल्द प्राइवेट होने जा रही है। सरकार ने कंपनी में मैनेजमेंट कंट्रोल के साथ अपनी पूरी 51% हिस्सेदारी स्टार9 मोबिलिटी को देने का निर्णय कर लिया है। ये डील इसी साल जून तक पूरी होने की उम्मीद है।

211.14 करोड़ रुपये में हुई पवन हंस (Pawan Hans) की डील

पवन हंस (Pawan Hans) लिमिटेड में सरकार की हिस्सेदारी बेचने की डील 211.14  करोड़ रुपये में पूरी हुई है। पवन हंस लिमिटेड लंबे समय से घाटे में चल रही है। ये सरकार और लोक उपक्रम (PSU) ओएनजीसी का जॉइंट वेंचर है। इसमें ONGC के पास 49% हिस्सेदारी है।  इस डील के लिए सरकार ने रिजर्व प्राइस 199.92 करोड़ रुपये रखा था। जबकि पूरी कंपनी की वैल्यू 414 करोड़ रुपये आंकी गई है।

Star9 को मिलेगा 42 हेलिकॉप्टर का बेड़ा

अब जब पवन हंस (Pawan Hans) को बेचने की डील फाइनल हो गई है। तो इसे जीतने वाली कंपनी को 42 हेलकॉप्टर का बेड़ा मिलेगा। इनमें से अधिकतर की ऑपरेशनल लाइफ 20 साल से ज्यादा है।

यूपी को बनाया जाएगा आईटी हब

पवन हंस (Pawan Hans) के लिए आई 3 बिड

सरकार को पवन हंस (Pawan Hans) के लिए 3 बोलियां मिली थीं। इसमें एक बोली 181.05 करोड़ रुपये की थी। जबकि दूसरी बोली 153.15 करोड़ रुपये की। केवल Star9 Mobility की बोली सरकार के रिजर्व प्राइस से ज्यादा थी। Star9 Mobility एक कंपनी समूह है जो Big Charter Private Limited, Maharaja Aviation Private Limited और Almas Global Opportunity Fund ने मिलकर बना है।

इस डील पर विपक्ष ने आरोप लगाया था कि सरकार ने एक नई कंपनी को कैसे पवनहंस सौंप दी, इस पर सरकार ने सफाई दी है कि महाराजा एविएशन 2008 में बनी कंपनी है। जबकि बिग चार्टर 2014 से और एलमस ग्लोबल अपॉरचुनिटी फंड, एलमस कैपिटल के तहत 2017 से काम कर रही है।

PNB ने भी रेपो ब्याज दर 0.40 फीसदी बढ़ाई

Related Post

10 हजार रुपये से नीता ने शुरू किया था ये बिज़नेस, अब करोड़ों में है टर्नओवर

Posted by - February 5, 2021 0
साधारण परिवार से आने वाली बेंगलुरु की नीता अदप्पा ने नौकरी छोड़कर अपना बिजनेस शुरू किया और आज उनके बिजनेस…