अफगानिस्तान में फंसे भारतीयों को स्पेशल मिशन के तहत लाया जाएगा भारत, वहां सभी सुरक्षित

75 0

अफगानिस्तान में तालिबान बंदूक के दम पर सत्ता हथियाने के बाद स्थिति अनियंत्रित है, न सिर्फ विदेशी बल्कि वहां के लोग भी देश छोड़कर भाग रहे हैं। भारत के करीब डेढ़ हजार लोग भी वहां फंसे हुए हैं, फिलहाल वह सभी वहां सुरक्षित हैं, सरकार उन्हें अगले 48 घंटे में वापस भारत लाएगी। भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर ने अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकेन से अफगानिस्तान संकट पर बात की है।

इस बीच अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन ने अफगानिस्तान को लेकर कहा- वहां से सेना वापस बुलाने का फैसला एकदम सही है। उन्होंने कहा- अफगान सेना ने तो बिना लड़े हथियार डाल दिए, यहीं से उनकी हार हो गई, अमेरिका ने उन्हें बीस साल ट्रेनिंग दी थी। काबुल एयरपोर्ट और आसपास फंसे करीब 500 भारतीयोंं को यही डर सता रहा है कि अमेरिकी सेना के निकल गई तो उन्हें यहां से निकलना मुश्किल हो जाएगा।

अनुराग के साथ प्रकाश तमांग की शिकायत है कि भारत सरकार ने हमारे लिए जो हेल्पालइन नंबर +919717785379 और ईमेल आईडी MEAHelpdeskIndia@gmail.com जारी की है, उस पर कोई जवाब नहीं आ रहा। उनका कहना है कि बीते तीन दिनों से काबुल स्थित भारतीय दूतावास के फोन भी नहीं उठाए जा रहे हैं।

केजरीवाल का ऐलान- कर्नल अजय कोठियाल होंगे उत्तराखंड के सीएम पद के उम्मीदवार

इधर, भारत सरकार की मुश्किल बढ़ गई है। तालिबान के कब्जे के कारण काबुल एयरपोर्ट पर सिविल एयरलाइंस की आवाजाही संभव नहीं रही तो भारत सरकार को वायुसेना का विमान भेजना पड़ रहा है। एक वायुसैनिक विमान करीब 130 भारतीयों को लेकर अभी-अभी ही आया है। उधर, सरकार सूत्रों के जरिए आश्वस्त करवा रही है कि जो भी भारतीय अफगानिस्तान छोड़ना चाहते हैं, उन्हें जरूर वापस लाया जाएगा, भले ही इसमें एक-दो दिन लग जाए। सरकार का दावा है कि अफगानिस्तान में सभी भारतीय सुरक्षित हैं, उन्हें किसी तरह का खतरा फिलहाल नहीं है।

Divyansh Singh

मिट्टी का तन, मस्ती का मन; छड़ भर जीवन, मेरा परिचय।

Related Post

Itisha Singh

वर्ल्ड ताइक्वांडो पार्टनरशिप प्रोग्राम के लिए लखनऊ की इतिशा सिंह का चयन

Posted by - December 22, 2020 0
लखनऊ। सेठ आनंदराम जयपुरिया स्कूल लखनऊ की 10 वीं कक्षा की छात्रा इतिशा सिंह (Itisha Singh) का वर्ल्ड ताइक्वांडो पार्टनरशिप…