अब कैप्टन और बदनौर को पन्नू ने धमकी

213 0

अमेरिका और कनाडा में छिपे अलगाववादी संगठन सिख फॉर जस्टिस के प्रमुख गुरपतवंत सिंह पन्नू ने पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह और राज्यपाल वीपी सिंह बदनौर को धमकी दी है कि अगर उन्होंने स्वतंत्रता दिवस पर ध्वजारोहण किया या इस संबंधी कार्यक्रमों में शिरकत की तो वह अपनी राजनीतिक मौत के जिम्मेदार खुद होंगे। इससे पहले स्वतंत्रता दिवस पर ध्वजारोहण न करने  को लेकर पन्नू हिमाचल प्रदेश और हरियाणा के मुख्यमंत्रियों को धमकी दे चुका है।

पन्नू ने मीडिया को एक टेलीफोनिक मैसेज के जरिए कहा कि हमारे किसान मर रहे हैं, इसलिए ध्वजारोहण बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। कुछ दिन पहले पन्नू ने हिमाचल के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर और हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल को भी विदेशी नंबरों से की गई कॉल के जरिए यह धमकी दी थी कि हिमाचल और हरियाणा पंजाब का ही हिस्सा हैं, इसलिए इनमें अलग से ध्वाजारोहण की अनुमति नहीं दी जाएगी।

हिमाचल और हरियाणा सरकारों ने इस मामले में एसएफजे और गुरपतवंत सिंह पन्नू के खिलाफ विभिन्न धाराओं में एफआईआर दर्ज करके जांच शुरु कर दी है। हरियाणा के सीएम को धमकी देने के मामले में पन्नू के खिलाफ गुरुग्राम के साइबर क्राइम थाने में देशद्रोह का केस दर्ज किया गया है। भारत सरकार दो साल पहले ही एसएफजे को आतंकवादी संगठन घोषित कर चुकी है।

नीरज चोपड़ा ने जीता गोल्ड मेडल, रच दिया इतिहास

शनिवार को पन्नू ने पहली बार कैप्टन अमरिंदर सिंह और वीपी सिंह बदनौर को धमकी दी। पन्नू ने दोपहर तक दो बार फोन करके अपनी धमकी को दोहराया। इससे पहले भी पन्नू की ओर से फोन करके पंजाब में आतंक और अलगाव को शह देने की कोशिशें की जाती रही हैं। दो साल पहले जब कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो परिवार सहित अमृतसर दौरे पर थे, उस दौरान भी पन्नू ने फोन करके कैप्टन को धमकी दी थी, जिसके जवाब में कैप्टन ने कहा कि पन्नू एक बार पंजाब आकर तो देखे।

Related Post

TLP कार्यकर्ताओं से हिंसा में जला पाकिस्‍तान, झड़प में 4 पुलिसकर्मियों की मौत

Posted by - October 28, 2021 0
इस्‍लामाबाद। पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान में एक बार फिर हालात बिगड़ते जा रहे हैं। वहां के पंजाब प्रांत में कट्टरपंथी संगठन…

ममता को करारा झटका: चुनाव के बाद हिंसा की होगी जांच, ह्यूमन राइट्स कमीशन ने बनाई कमेटी

Posted by - June 22, 2021 0
पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव के बाद हिंसा की घटनाओं को लेकर जांच के लिए कमेटी का गठन किया गया…
पर्सन ऑफ द ईयर

Flashback 2019 : ग्रेटा थनबर्ग को टाइम पत्रिका की ‘पर्सन ऑफ द ईयर’ बनीं

Posted by - December 12, 2019 0
नई दिल्ली। जलवायु परिवर्तन की समस्या का सामना करने वाली पीढ़ी के लिए अंतरात्मा की आवाज बनने वाली स्वीडिश किशोरी…